Breaking News

मऊ में ससुराल के बाहर धरने पर बैठी विवाहिता, पीड़िता बोली-दहेज में मांगी जा रही कार, पति रेलवे में है गार्ड

मुल्क तक न्यूज़ टीम, मऊ. मऊ के थाना सराय लखंसी के चांदमारी इमिलिया क्षेत्र में एक लड़की की शादी दिसंबर 2020 में इलाहाबाद में रेलवे में गार्ड के पद पर तैनात युवक से हुई थी। आजमगढ़ के जीयनपुर थाना क्षेत्र की रहने वाली वर्तिका पिछले मई 2022 में अपने मायके शादी में गई तो उसके ससुराल वालों ने साजिश के तौर पर उसका मुकदमा कोर्ट में दाखिल कर दिया और महिला वहां कोर्ट कचहरी के चक्कर लगा रही है। उसका मामला परिवार परामर्श केंद्र को सुपुर्द कर दिया गया है। महिला का कहना है कि यहां एक तरफा विदाई का केस फाइल किया गया है।

पीड़ित महिला वर्तिका ने बताया कि मेरी शादी 11 दिसंबर 2020 को हुई थी जिसके बाद मैं अपने भाई की शादी में मायके गई थी। 12 मई को वहां भाई की शादी थी और यहां ससुराल वालों ने 23 मई को कोर्ट में केस कर दिया। उसके बाद मैं जब भी यहां आती हूं तो मुझे घर नहीं आने दिया जाता है।

3 दिन से मैं अपने ससुराल के दरवाजे पर बैठी हूं और मुझे अंदर नहीं जाने दिया जा रहा है। घर के अंदर सास और जेठानी हैं लेकिन बाहर से जेठ ताला बंद करके चले गए हैं। ससुराल वालों के द्वारा दहेज की मांग की जा रही है और परेशान किया जा रहा है।

बोली- मुझे पति के साथ रहना है

पीड़ित महिला ने आगे बताया कि ससुराल वालों ने कार की मांग की है। ससुराल वालों द्वारा बहुत परेशान किया जा रहा है और मेरे पति भी मार्ग से भटके हुए हैं। मेरे पति रेलवे में गार्ड हैं और इलाहाबाद में पोस्टिंग है। ससुराल वालों ने विदाई का दावा किया है जबकि मैं ससुराल में रहना चाह रही हूं।

पति बोला- कोई कमी नहीं है लेकिन ले नहीं गया

परामर्श केंद्र में भी मैंने एप्लीकेशन दी थी और वहां से भी कहा गया आप ले जाइए आपने विदाई का दावा किया है। आपको ले जाना चाहिए। वहां मेरे पति से पूछा गया कि आपकी पत्नी में क्या कमी है, तो मेरे पति द्वारा बताया गया कि मेरी पत्नी में कोई कमी नहीं है लेकिन मैं कोर्ट से ले जाना चाहता हूं।

कोई टिप्पणी नहीं