Breaking News

गोरखपुर मऊ के रास्ते गोमतीनगर से पुरी के लिए चलेगी नई ट्रेन, भगवान जगन्नाथ का दर्शन होगा आसान

मुल्क तक न्यूज़ टीम, गोरखपुर. रेलवे बोर्ड ने पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन के प्रस्ताव पर गोरखपुर के रास्ते गोमतीनगर (लखनऊ) से पुरी (ओडिशा) के बीच नई ट्रेन चलाने की अनुमति दे दी है। यह ट्रेन भटनी, मऊ, वाराणसी और गया होते हुए चलेगी। अभी रूट, ठहराव, समय और संचालन तिथि पर निर्णय नहीं लिया गया है। अंतिम निर्णय ईस्ट कोस्ट रेलवे की सहमति के बाद ही लिया जाएगा।

विभागों ने शुरू की तैयारी

भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा के चलते ईस्ट कोस्ट रेलवे की तरफ से अभी सहमति नहीं मिल पा रही है। हालांकि पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने बोर्ड की हरी झंडी मिलिने के बाद संबंधित दूसरे जोन और विभागों से बातचीत कर ट्रेन के संचालन संबंधी तैयारी शुरू कर दी है।

पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन के प्रस्ताव पर बोर्ड ने दे दी है अनुमति, लखनऊ सहित पूर्वी उत्तर

पूर्वी उत्तर प्रदेश से हजारों लोग पुरी की यात्रा करते हैं। पिछले कई सालों से गोरखपुर से पुरी तक सीधी ट्रेन चलाने की मांग चल रही है। आइआरसीटीसी की भारत दर्शन यात्रा ट्रेनों का संचालन ठप हो जाने से श्रद्धालुओं की परेशानी और बढ़ गई है। श्रद्धालुओं को भले ही इस बार भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा में शामिल होने के लिए ट्रेन की सीधी सुविधा न मिल पाई हो, लेकिन अगले वर्ष से उन्हें भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा सहित भगवान के दर्शन का सौभाग्य मिल जाएगा।

भटनी, मऊ, वाराणसी और गया के रास्ते चलाने की है तैयारी

पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन के प्रस्ताव पर अनुमति देकर रेलवे बोर्ड ने पवित्र धाम की राह आसान कर दी है। जानकारों के अनुसार पूर्वोत्तर रेलवे रूट से पुरी जाने वाली नई ट्रेन गोरखपुर से ही चलाई जानी थी लेकिन यात्रियों की सहूलियत के लिए गोमतीनगर तक मार्ग विस्तार किया जा रहा है। संभावना है कि रथ यात्रा की समाप्ति पर 15 जुलाई के बाद ईस्ट कोस्ट रेलवे और दूसरे जोन की सहमति से रूट पर अंतिम निर्णय के साथ ठहराव और समय का निर्धारण हो जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं