Breaking News

माफ‍िया मुख्तार अंसारी के आर्थिक तंत्र को अब तक 2 अरब की चोट, संपत्तियों का देखें लेखा जोखा

मुल्क तक न्यूज़ टीम, मऊ. योगी सरकार 2.0 के निशाने पर पूर्वांचल में माफिया मुख्तार अंसारी की गिरोह आइएस-191 है। गिरोह के आर्थिक मंत्र को नेस्तानाबुत करने के लिए अभियान चलाकर सिंडिकेट को तोड़ा जा रहा है। इसमें काफी हद तक अपराध की जड़े हिल चुकी हैं। अभी तक मुख्तार अंसारी, पत्नी अफशा, बेटे अब्बास व उमर सहित 49 सदस्य व सहयोगियों पर प्रशासन का चाबुक चला है।

गाजीपुर, आजमगढ़, वाराणसी सहित पूर्वांचल के कई जनपदों में गिरोह पर ताबड़तोड़ कार्रवाई हो रही है तो अकेले मऊ में अभी तक 2.04 अरब की संपत्ति जब्त कर ली गई है। सरकार इस गिरोह से जुड़े एक-एक अपराधियों, नामचीन सफेदपोशों, कोल माफियाओं, भू-माफियाओं, वसूली माफिया आदि की कुंडली तैयार कर धड़ाधड़ कार्रवाई में जुटी है। पूर्वांचल में अब तक मुख्तार गिरोह के फैले आर्थिक साम्राज्य को झटके पर झटका लगा है।

2007 से 2012 के बीच बसपा सरकार ने मुख्तार अंसारी गिरोह के विरुद्ध भी कार्रवाई किया था। इसमें मछली व्यवसाय के विरुद्ध बड़ी कार्रवाई हुई थी। एकबारगी ऐसा लगा था कि गिरोह टूट गया है पर समय के साथ एक बार फिर गिरोह फला-फूला। गिरोह ने मऊ सहित पूर्वांचल में एक बार फिर अपना सिक्का जमाया। 2017 में प्रदेश की बागड़ोर संभालते ही योगी सरकार ने मुख्तार गिरोह को निशाने पर लिया।

गाजीपुर, आजमगढ़, मऊ, जौनपुर, वाराणसी सहित पूर्वांचल में पीडब्ल्यूडी, जिला पंचायत व आरइएस के ठेकों पर सिक्का जमाए मुख्तार गिरोह की धमक कम पड़ी तो गिरोह से जुड़े सफेदपोशों, भू-माफियाओं व ठेकेदारों के संपत्तियों का ब्यौरा जुटाया जाने लगा। एक-एक अवैध संपत्ति की जांच के बाद होने वाली कार्रवाई से गिरोह के जुड़े लोग भूमिगत हो गए।

बेटों की 24 करोड़ की जमीन हो चुकी है जब्त:

मुख्तार अंसारी गिरोह को कई आपराधिक गैंग ही नहीं बल्कि नामचीन सफेदपोश ताकत प्रदान करते हैं। अब जबकि योगी सरकार ने प्रदेश में अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई तेज कर दी है तो पूर्वांचल में मुख्तार गिरोह का फैला साम्राज्य निशाने पर लिया। बीते 09 जून को प्रशासन ने दशई पोखरा के निकट मुख्तार के बेटों अब्बास व उमर के नाम 24 करोड़ की जमीन को जब्त कर दिया। वहीं दक्षिणटोला थाना क्षेत्र के रैनी गांव में कई बीघे में बने भंडारण गृह पर मुख्तार अंसारी का कब्जा था। रैनी निवासी अनुसूचित जाति के लोगों की जमीन पर जबरन कब्जा कर बनाए गए भंडारण गृह को प्रशासन ने सीज कर दिया है। वहीं सरकारी भूमि पर कब्जा जमाने व जबरन भूमि कब्जाने के मामले में मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशा अंसारी सहित दो बेटों के नाम मुकदमा दर्ज हुआ।

गणेश मिश्रा की 110 करोड़ की संपत्ति जब्त:

मुख्तार अंसारी गिरोह के सहयोगी गणेशदत्त मिश्रा के विरुद्ध प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की है। ग्राम सिकटिया में बिना नक्शा पास कराए लगभग चार हेक्टेयर भूमि पर अवैध प्लाटिंग किए जाने पर चार जनवरी को प्रशासन ने जब्त कर लिया था। इसी तरह अवैध तरीके से प्रीति वर्कशीट इंफ्रा डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड डायरेक्टर विजय कुमार के नाम भूमि खरीदकर अवैध कालोनी विकसित करने को प्रशासन ने 11 अप्रैल को को जब्त कर लिया।

मऊ में अब तक की गई कार्रवाई-

- 56 लोगों पर लग चुका हैं गैंगस्टर 

- गिरोह से जुड़े 76 लोगों पर गुंडा एक्ट की कार्रवाई 

- 68 लाख के नगरपालिका स्टैंड का टेंडर निरस्त 

- 06 ठेकेदारों का चरित्र प्रमाण पत्र निरस्त 

- गिरोह के मछली माफिया की 8.17 करोड़ की संपत्ति कुर्क 

- भू-माफिया की 60 लाख की संपत्ति जब्त 

- कोयला माफिया के 5.5 करोड़ के भूखंड व शापिंपग माल व एक करोड़ के वाहन जब्त 

- मुख्तार अंसारी के बेटों के नाम दर्ज 24 करोड़ की जमीन जब्त

- वसूली माफिया के 6.62 करोड़ की संपत्ति जब्त

- गाजीपुर तिराहा पर 20 करोड़ के लागत का गृहस्थ प्लाजा व मैरिज हाल का ध्वस्तीकरण

- सिकटिया में बिना नक्शा पास कराए भूमि पर अवैध प्लाटिंग करने में चार हेक्टेयर भूमि जब्त

बोले पुलिस अधीक्षक : अपराध से जुड़ा कोई भी व्यक्ति बख्शा नहीं जाएगा। मुख्तार अंसारी गिरोह आइएस-191 से जुड़े लोगों को चिह्नित कर लिया गया है। गिरोह से जुड़कर जिन लोगों ने अवैध संपत्ति अर्जित किया है, सभी की अवैध संपत्तियां जब्त की जाएगी। - अविनाश पांडेय, पुलिस अधीक्षक, मऊ।

कोई टिप्पणी नहीं