Breaking News

सपा से टूटा गठबंधन तो बहुजन समाज पार्टी का खटखटाएंगे दरवाजा : ओमप्रकाश राजभर

मुल्क तक न्यूज़ टीम, लखनऊ. सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि एक बार फिर दोहराया कि समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन है और रहेगा। सपा प्रमुख अखिलेश यादव जब गठबंधन तोड़ेंगे तब वे प्रदेश की तीसरी बड़ी पार्टी बसपा का दरवाजा खटखटाएंगे।

ओमप्रकाश राजभर रविवार को सारनाथ के लोहिया नगर कालोनी में मंडल स्तरीय संगठनात्मक बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को बड़ी राजनीतिक पार्टियां समर्थन दे रही हैं। सुभासपा भी समर्थन दे रही है। पार्टी छोड़ गए प्रदेश प्रवक्ता शशि प्रताप सिंह को लेकर ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि ऐसे नेता पार्टी में रहें या जाएं, कोई फर्क नहीं पड़ता।

पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि कार्यकर्ता संगठन की रीढ़ हैं। पार्टी की मजबूती के लिए कार्यकर्ता बूथ स्तर तक लोगों से संपर्क कर पार्टी के बारे में बताएं। वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव में जो खामियां रहीं, उसे दूर कर वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव में मजबूती से लडऩे का संकल्प लें।

सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि विधानसभा चुनाव के बाद पार्टी के पदाधिकारियों एंव कार्यकर्ताओ की मजबूती के लिए मंडलीय समीक्षा बैठक की गई । विधानसभा चुनाव के बाद प्रदेश को चार भाग बुंदेलखंड, पश्चिमांचल,मध्यांचल,पूर्वांचल बांटा गया है। जिसमें पदाधिकारी की जिम्मेदारी सौप दी गयी है। वे अपने अपने क्षेत्र में बूथ स्तर पर काम करेंगे। पुनः 10 दिनों के बाद समीक्षा की जाएगी।

एक बूथ पर 10 गांव में कार्यकर्ता पार्टी को मजबूत करने का काम करेंगे। इसके साथ इच्छुक लोगों को भी पार्टी में जोड़ने का काम किया जा रहा है। हर महीने में पार्टी की मंडलीय समीक्षा बैठक होगी।एक प्रश्न के उत्तर के ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि पार्टी से किसी को निकल जाने से पार्टी पर कोई प्रभाव नही पड़ता है। शशि प्रताप बड़े नेता व देश के नेता है। हम प्रदेश के नेता है। हमारी पार्टी में जातिवाद, परिवारवाद का कोई मतलब नही है। पार्टी में हर जाति के लोग विधायक है।सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी प्रदेश में जातिवाद जनगणना कराने, मंहगाई व बिजली बिल से निजात,देश में अनिवार्य व निश्‍शुल्क शिक्षा लागू करने,गरीबों का निशुल्क इलाज,मुद्दों को लेकर पार्टी सदन से लेकर सड़क तक संघर्ष कर रही है।

कोई टिप्पणी नहीं