Breaking News

गोरखपुर से दिल्ली हमसफर एक्सप्रेस समेत कई ट्रेनों में कोच बढ़ाने की तैयारी, वेटिंग से मिलेगी राहत

मुल्क तक न्यूज़ टीम, गोरखपुर. ट्रेन से यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। गोरखपुर से दिल्ली जाने वाली एकमात्र वातानुकूलित हमसफर एक्सप्रेस को 24 कोच के साथ चलाने की तैयारी चल रही है। इस सम्बंध में वाणिज्य विभाग ने यात्रियों की डिमांड को देखते हुए परिचालन विभाग को प्रस्ताव भेज दिया है। संभावना जताई जा रही है कि जल्द ही इस सम्बंध में मंजूरी मिल जाएगी।

हमसफर एक्सप्रेस अभी 20 कोच के लोड से चल रही है। मंजूरी के बाद इसमें तीन और कोच लगाए जा सकेंगे। तीन और कोच लग जाने से एक साथ 240 सीटें बढ़ जाएंगी। सीटें बढ़ जाने से वेटिंग 10 के नीचे आ जाएगा और टिकट बुक कराने वाले लगभग हर यात्री को सीट मिल जाएगी। दिल्ली से गोरखपुर आने वाले यात्रियों को भी काफी सुविधा होगी।

इसके पहले गोरखपुर और बनारस आदि विभिन्न स्टेशनों से चलने वाली दस जोड़ी एक्सप्रेस ट्रेनों में वातानुकूलित तृतीय श्रेणी (एसी थर्ड) के एक से दो स्थायी कोच लगाने की घोषणा की है। इससे यात्रियों को काफी राहत मिलेगी और वेटिंग लिस्ट के यात्रियों का टिकट भी कन्फर्म होने की संभावना बढ़ जाएगी। सीटों की संख्या बढ़ने से कन्फर्म टिकटों की मारामारी धीरे-धीरे समाप्त हो जाएगी।

इन ट्रेनों में लगेंगे स्थाई कोच

15067/15068 नंबर की गोरखपुर-बांद्रा टर्मिनस-गोरखपुर एक्सप्रेस में छह जुलाई से साधारण द्वितीय श्रेणी के 04, शयनयान श्रेणी के 06, वातानुकूलित तृतीय श्रेणी के 08, वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी के 02 तथा एलएसएलआरडी और जनरेटर सह लगेज यान के एक-एक सहित 22 कोच लगाए जाएंगे।

15065/15066 गोरखपुर-पनवेल-गोरखपुर एक्सप्रेस में एक जुलाई से साधारण द्वितीय श्रेणी के 04, शयनयान श्रेणी के 06, वातानुकूलित तृतीय श्रेणी के 08, वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी के 02 तथा एलएसएलआरडी और जनरेटर सह लगेज यान के एक-एक सहित 22 कोच लगाए जाएंगे

12571/12572, 12595/12596 गोरखपुर-आनन्दविहार-गोरखपुर हमसफर एक्सप्रेस में एक जुलाई से वातानुकूलित तृतीय श्रेणी के 20 कोच तथा जनरेटर सह लगेज यान के दो सहित कुल 22 कोच लगाए जाएंगे।

12559/12560, 12581/12582 एवं 15127/15128 बनारस-नई दिल्ली-बनारस एक्सप्रेस में एक जुलाई से साधारण द्वितीय श्रेणी के 04, शयनयान श्रेणी के 05, वातानुकूलित तृतीय श्रेणी के 08, वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी के 02, वातानुकूलित प्रथम श्रेणी का 01 कोच तथा एलएसएलआरडी के एक-एक सहित कुल 22 कोच लगाए जाएंगे।

कोई टिप्पणी नहीं