Breaking News

सेना में भर्ती का आया नया नियम, फौज में 4 साल सेवा देने वाले युवा कहलाएंगे 'अग्निवीर'

मुल्क तक न्यूज़ टीम, नई दिल्ली. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को बड़ा ऐलान किया। रक्षा मंत्री ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में सरकार ने रक्षा व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए कई कदम उठाए हैं। रक्षा क्षेत्र में एफडीआई जैसे महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं। सरकार का इरादा सेना को विश्वस्तरीय फौज बनाना है। इसके लिए सरकार अब 'अग्निपथ' योजना ला रही हैं। इस योजना में भारतीय नौजवानों को सेना में सेवा का अवसर प्रदान किया जाएगा। 

यह योजना हमारे युवाओं को सेना में अवसर देने और फौज को पहले से ज्यादा आधुनिक बनाने का काम करेगी। रक्षा मंत्री ने कहा कि 'अग्निपथ' के जरिए सेना का प्रोफाइल युवा बनाया जाएगा। इस योजना से रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। 'अग्निवीरों' के लिए सेवा के बाद अच्छी पेंशन व अन्य सुविधाएं नियमित सेना कर्मियों की तरह रखी गई हैं। 'अग्निपथ' योजना चार साल की होगी। चार साल की सेवा पूरी करने वाले युवाओं को रिटायर के समय डिग्री एवं सर्टिफिकेट दिया जाएगा।  

25 फीसदी युवाओं को दोबारा मिलेगा मौका

चार साल की सेवा के बाद रिटायर होने वाले 25 प्रतिशत युवाओं को फिटनेस के आधार पर सेवा का फिर मौका दिया जाएगा। चार साल में छह महीने की बेसिक ट्रेनिंग जाएगी। रिटायर होने पर इन युवाओं को डिग्री और सर्टिफिकेट दिया जाएगा। 'अग्निपथ' योजना में रिटायर होने वाले युवाओं की उम्र 21-22 साल होगी। यह योजना अमेरिका और इजरायल में पहले से लागू है। 

अभी सेना में औसत उम्र 36 साल

'अग्निपथ' योजना के बारे में बताते हुए लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने बताया कि 'अग्निवीर' नए जवान होंगे जो देश की सुरक्षा करेंगे। चार साल तक सेना में काम करने के बाद उनका बॉयोडेटा शानदार होगा। सेना में काम करने के बाद वे समाज में अलग दिखेंगे। पुरी ने कहा कि अभी सेना की औसत उम्र 32 साल है। आने वाले छह से सात सालों में यह उम्र सीमा घटकर 26 साल हो जाएगी। सेना में व्यापक बदलाव के लिए तकनीकी दक्षता एवं आधुनिक सोच रखने वाले युवाओं की भर्ती की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं