Breaking News

सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड: पंजाब पुलिस को मिली लॉरेंस बिश्नोई की 7 दिनों की रिमांड

मुल्क तक न्यूज़ टीम, चंडीगढ़. सिंगर शुभदीप सिंह सिद्धू उर्फ सिद्धू मूसेवाला की हत्या के मामले में गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को बुधवार को मानसा कोर्ट में पेश किया गया। यहां से उसे पंजाब पुलिस की 7 दिनों की रिमांड पर भेजा गया है। मंगलवार को ही दिल्ली की कोर्ट ने पंजाब पुलिस को बिश्नोई की ट्रांजिट रिमांड दी थी। मूसेवाला की 29 मई को जवाहरके गांव में गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी।

मूसेवाला हत्याकांड की जांच कर रही पंजाब पुलिस को गैंगस्टर बिश्नोई की 7 दिनों की रिमांड मिल गई है। गैंगस्टर को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। पेशी के दौरान मानसा में भारी पुलिस बल तैनात रहा। खास बात है कि सिंगर की हत्या के बाद कनाडा के गैंगस्टर गोल्डी बराड़ का नाम भी सामने आया था। खबरें हैं कि उसने फेसबुक पोस्ट के जरिए मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी ली थी। यह भी कहा जाता है कि वह बिश्नोई का करीबी है।

मंगलवार को पंजाब पुलिस ने बिश्नोई को औपचारिक रूप से गिरफ्तार करने के बाद अदालत के सामने पेश किया था। जहां से कोर्ट ने ट्रांजिट रिमांड का आदेश जारी किया। साथ ही आदेश में बिश्नोई को बुधवार को मानसा में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पेश करने की बात कही गई थी।

बिश्नोई गैंग के दो सदस्य गिरफ्तार

भाषा के अनुसार, पंजाब पुलिस ने कनाडा में रह रहे गैंगस्टर गोल्डी बराड़ के निर्देश पर काम कर रहे लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के दो सक्रिय सदस्यों को गिरफ्तार किया है। मोहाली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विवेक शील सोनी ने मंगलवार को बताया कि गगनदीप सिंह उर्फ गागी और गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी को उस समय गिरफ्तार किया गया, जब वे मोहाली में हथियारों की एक खेप पहुंचाने जा रहे थे। 

सोनी ने कहा कि दोनों गैंगस्टर मनप्रीत सिंह उर्फ मन्ना के जरिए गोल्डी बराड़ के नियमित संपर्क में थे। मन्ना ने कथित तौर पर पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में हमलावरों को एक कार मुहैया करवायी थी। मन्ना को हाल ही में गिरफ्तार किया गया था।

कोई टिप्पणी नहीं