Breaking News

योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादव में खूब हुआ हंसी-मजाक, चर्चा में रहे चचा शिवपाल

मुल्क तक न्यूज़ टीम, लखनऊ. उत्तर प्रदेश की 18वीं विधानसभा का पहला सत्र कई मायनों में खास रहा। लंबे अर्से बाद यह पहला सत्र था जब एक बार भी क्षण भर के लिए भी सदन स्थगित नहीं हुआ। यहीं नहीं कुछ देर की तल्खी को छोड़ दें तो पूरे समय सदन में माहौल सौहार्दपूर्ण रहा। नेता सदन व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव के बीच खूब हास परिहास भी हुआ जबकि शिवपाल यादव इनकी बीच की चर्चा के केंद्र बिंदु रहे।

बजट सत्र में सदन इस बार कुल 55 घंटे 57 मिनट चला। सदन में शोरशराबा, नोकझोंक व तल्खी तो हुई लेकिन विधानसभा अध्यक्ष के सामने सदन स्थगित करने की नौबत नहीं आई। राज्यपाल के अभिभाषण से लेकर बजट तक पर हुई चर्चा में सवा तीन सौ सदस्यों ने शिरकत की और अपनी बात रखी। पहली बार सदस्यों के लिए सीट तय कर दी गईं और उनके आगे टैबलेट फिक्स कर दिए गए। राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान विपक्ष का हंगामा पहले के मुकाबले कम रहा।

विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने कहा कि उत्तर प्रदेश को लेकर बहुत नकारात्मक बातें होती रहती थीं। मगर अब तस्वीर बदली है।

इस बार विधानसभा की कार्यवाही इतनी सुचारु ढंग से चली कि एक बार भी सदन स्थगित नहीं हुआ। इस मामले में नेता प्रतिपक्ष की बड़ी अहम भूमिका रही। बगैर विपक्ष के समुचित सहयोग के सदन चल ही नहीं सकता।- सुरेश खन्ना, संसदीय कार्य मंत्री

कोई टिप्पणी नहीं