Breaking News

अग्निपथ पर हिंसा के बीच सेना के उच्च अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे राजनाथ सिंह

मुल्क तक न्यूज़ टीम, नई दिल्ली. अग्निपथ योजना को लेकर देशभर में हो रहे विरेध प्रदर्शनों के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शनिवार को सेना के उच्च अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। यह बैठक शनिवार सुबह साढ़े 11 बजे होने की उम्मीद है। बैठक में सेना के शीर्ष अधिकारी उपस्थित हो सकते हैं। इस रिव्यू मीटिंग में थलसेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे नहीं होंगे, क्योंकि वो कल वायुसेना की पासिंग आउट परेड में हिस्सा लेने के लिए हैदराबाद के डूंडीगल जा रहे हैं। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रक्षा मंत्री की इस रिव्यू मीटिंग में वायुसेना प्रमुख, नौसेना प्रमुख और डीएमए के अधिकारी मौजूद रहेंगे। मीटिंग अग्निपथ स्कीम को लेकर देश में हो रहे बवाल को लेकर बुलाई गई है। बता दें कि अग्निपथ सैन्य भर्ती योजना के खिलाफ प्रदर्शन के जोर पकड़ने के बीच थलसेना, नौसेना और वायुसेना ने इस नए ‘प्रारूप’ के तहत अगले हफ्ते तक चयन प्रक्रिया शुरू करने की शुक्रवार को घोषणा की। वहीं, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सशस्त्र बलों में शामिल होने के आकांक्षी युवाओं से अपनी तैयारी शुरू कर देने की अपील की।

वायुसेना प्रमुख वी आर चौधरी ने पीटीआई से कहा कि अग्निपथ योजना के तहत वायुसेना द्वारा चयन प्रक्रिया 24 जून से शुरू होगी, जबकि थलसेना ने कहा कि वह भर्ती के लिए प्रारंभिक अधिसूचना जारी कर दो दिनों के भीतर इसकी प्रक्रिया औपचारिक रूप से शुरू कर देगी। वहीं, नौसेना ने कहा कि वह ‘‘बहुत जल्द’’ भर्ती प्रक्रिया शुरू करेगी। नौसेना के एक वरिष्ठ कमांडर ने कहा कि भर्ती के लिए अधिसूचना एक हफ्ते के अंदर जारी कर दी जाएगी।

वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों ने बताया कि तीनों सशस्त्र बल नयी योजना के तहत अभियानगत और गैर-अभियागत भूमिकाओं में रंगरूटों के प्रथम बैच को अगले साल जून तक तैनात करने की योजना बना रहे हैं। अधिकारियों ने यह भी कहा कि प्रदर्शन कर रहे युवा अग्निपथ योजना के फायदों से पूरी तरह से अवगत नहीं हैं।

प्रदर्शनकारियों को शांत करने की कोशिश के तहत सरकार ने बृहस्पतिवार रात इस योजना के तहत 2022 के लिए सैनिकों की भर्ती के वास्ते ऊपरी उम्र सीमा 21 वर्ष से बढ़ा कर 23 वर्ष कर दी। जम्मू कश्मीर के दो दिवसीय दौरे पर गये रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सशस्त्र बलों में भर्ती की ‘‘अग्निपथ योजना’’ का विरोध कर रहे युवाओं की चिंताओं को दूर करने के प्रयास के तहत कहा कि यह नयी योजना भारत के युवाओं को देश की रक्षा व्यवस्था से जुड़ने और देश सेवा करने का सुनहरा अवसर है।

थल सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने कहा कि ‘अग्निपथ’ योजना के तहत 2022 के लिए आयु सीमा को 21 वर्ष से बढ़ाकर 23 वर्ष करने का निर्णय उन युवाओं को अवसर प्रदान करेगा, जो सेना में भर्ती होने की तैयारी कर रहे हैं, लेकिन पिछले दो साल से कोविड-19 महामारी के कारण ऐसा नहीं कर पाए। जनरल पांडे ने कहा कि सेना में भर्ती के लिए उम्र में एकबारगी छूट देने संबंधी सरकार के फैसले के बाद भर्ती प्रक्रिया की घोषणा जल्द की जाएगी।

अग्निपथ योजना के खिलाफ देश के कई हिस्सों में प्रदर्शन तेज, ट्रेनों में आगजनी, तोड़फोड़

सेना में भर्ती के लिए ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ देश के विभिन्न हिस्सों में लगातार तीसरे दिन शुक्रवार को विरोध प्रदर्शन के तहत तेलंगाना के सिकंदराबाद में पुलिस की गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई। आक्रोशित युवाओं के प्रदर्शन के दौरान कई ट्रेनों में आग लगा दी गई, निजी, सार्वजनिक वाहनों, रेलवे स्टेशन में तोड़फोड़ की गई और राजमार्गों तथा रेलवे लाइन को अवरूद्ध कर दिया गया।

शुक्रवार को जान गंवाने वाले युवक की पहचान वारंगल जिले के दबीरपेट गांव के रहने वाले 24 वर्षीय राकेश के रूप में हुई है। बुधवार से शुरू हुए हिंसक प्रदर्शन के बाद मौत का यह पहला मामला सामने आया है। पड़ोसी राज्य बिहार और पश्चिम बंगाल के कुछ भागों में अग्निपथ योजना के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन के मद्देनजर राज्य सरकार ने शुक्रवार को सभी जिला प्रशासनों को एहतियाती कदम उठाने को कहा ताकि कहीं भी कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब न हो.

कोई टिप्पणी नहीं