Breaking News

शुभदीप सिंह उर्फ सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड: सुरक्षा क्यों कम की गई, जानकारी कैसे लीक हुई, HC ने पूछा

मुल्क तक न्यूज़ टीम, नई दिल्ली. 9 मई को मोहाली में अपने खुफिया मुख्यालय पर राकेट चालित ग्रेनेड हमले के अपराधियों को पकड़ने में 'विफल' रहने के बाद, पंजाब पुलिस रविवार शाम को पंजाबी गायक शुभदीप सिंह उर्फ सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद फिर से अंधेरे में टटोल रही है। मूसेवाला एक महिंद्रा थार से जा रहे थे जब उन पर दो दर्जन से अधिक गोलियां बरसाकर उनकी हत्या कर दी गई। मूसेवाला की रविवार को पंजाब के मानसा जिले में अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। मूसेवाला (27) कांग्रेस नेता भी थे। पंजाब सरकार द्वारा उनकी सुरक्षा वापस लिए जाने के एक दिन बाद यह घटना हुई।

पंजाब में 400 से अधिक जोखिम वाले व्यक्तियों की पुलिस सुरक्षा वापस लेने या कम करने पर हो रही गर्मागर्म बहस के बीच, पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय ने सोमवार को आप सरकार से जानना चाहा कि ऐसा क्यों किया गया था। कोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा कि जिन लोगों की सुरक्षा वापस ली गई थी उनके नाम की जानकारी लीक कैसे हुई। HC ने सरकार से 2 जून तक जवाब देने को कहा है।

बता दें कि पंजाब में लोगों की पुलिस सुरक्षा वापस लेने के बाद आम आदमी पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इसकी जानकारी शेयर की थी। शेयर किए पोस्टर में लिखा था कि सिद्धू मूसेवाला सहित कई लोगों की पुलिस सुरक्षा वापस घटाई गई है। आप सरकार पार्टी के ट्विटर हैंडल पर शेयर किए गए इस पोस्टर के लिए आलोचनाओं के घेरे में आ गई, जिसमें मूसेवाला और अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह का उल्लेख करते हुए कैप्शन के साथ सुरक्षा कम करने की घोषणा करते हुए लिखा था, "पंजाब में वीवीआईपी कल्चर पर एक और हमला"।  

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने न्यायिक आयोग बनाने की घोषणा की

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सोमवार को पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जांच के लिए उच्च न्यायालय के मौजूदा न्यायाधीश की अध्यक्षता में एक न्यायिक आयोग गठित करने की घोषणा की। मूसेवाला के पिता बलकौर सिंह ने मान से अपने बेटे की हत्या की जांच उच्च न्यायालय के एक मौजूदा न्यायाधीश से कराने का आदेश देने का आग्रह किया था। उन्होंने पंजाब सरकार से केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) और राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) को जांच में शामिल करने की भी मांग की।

हत्या पर दुख व्यक्त करते हुए मान ने कहा ‘‘राज्य सरकार पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश से अनुरोध करेगी कि इस मामले की जांच उच्च न्यायालय के मौजूदा न्यायाधीश से कराई जाए।’’ मान ने कहा कि राज्य सरकार इस आयोग की पूरी मदद करने के साथ ही एनआईए जैसी केंद्रीय एजेंसी का पूरा सहयोग भी सुनिश्चित करेगी।

पंजाब पुलिस ने अहम सुराग हाथ लगने का दावा किया

पंजाब पुलिस ने सोमवार को पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में अहम सुराग हाथ लगने का दावा किया। पुलिस ने कहा कि कुछ लोगों से पूछताछ के बाद उसे कई अहम सुराग मिले हैं। इस बीच सोशल मीडिया पर सामने आयी एक सीसीटीवी फुटेज में देखा जा सकता है कि गायक की हत्या से ठीक पहले उनके वाहन का पीछा किया जा रहा था। अधिकारियों ने कहा कि इस मामले में पुलिस ने सोमवार को पांच लोगों को देहरादून से हिरासत में लिया है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि हमलावरों को पकड़ने के लिए शुरू किए गए प्रयासों के साथ ही पुलिस सीसीटीवी फुटेज में नजर आने वाले उन लोगों की भूमिका की भी जांच कर रही है, जिन्होंने रविवार को मानसा के एक ढाबे में खाना खाया था। ये सीसीटीवी फुटेज उसी ढाबे की है।

#SidhuMoosewala #PunjabNews

कोई टिप्पणी नहीं