Breaking News

मऊ में प्रधान की हत्‍या कर फरार 50 हजार का इनामी राहुल सिंह बिहार से गिरफ्तार

मुल्क तक न्यूज़ टीम, मऊ. भरी पंचायत में प्रधान की हत्या कर एकाएक सुर्खियों में आया बदमाश राहुल सिंह आखिरकार पुलिस के हत्‍थे चढ़ गया। मऊ जिले में प्रधान हत्याकांड के गवाह की हत्या कर जनपद में बदामश ने दहशत फैलाई थी।

नेपाल भागने की फिराक में लगे चिरैयाकोट क्षेत्र के असलपुर निवासी 50 हजार के इनामी बदमाश राहुल सिंह को बिहार पुलिस ने शनिवार को गोपालगंज से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी की सूचना यूपी पुलिस को दी गई। सूचना पाकर मऊ की पुलिस गोपालगंज पहुंची और रिमांड पर लेने की कोशिशों में जुट गई। इधर गिरफ्तारी के बाबत पुलिस प्रशासन चुप्पी साधे हुए हैं।

आठ सितंबर 2019 की दोपहर प्रदेश में एकाएक मऊ सुर्खियों में छा गया। जनपद के चिरैयाकोट थाना क्षेत्र असलपुर में पोखरों के पट्टा को लेकर गांव के प्राथमिक पर हो रही पंचायत के बीच ग्राम प्रधान मुन्ना राव बागी पर ताबड़तोड़ गोलिया दागकर मौके पर ही हत्या कर दी गई। अंधाधूंध गोलियों की बौछार देख कोई हिम्मत तक नहीं उठा सका था। एक बाइक पर सवार तीन बदमाश आराम से भरी पंचायत प्रधान की हत्या कर फरार हो गए। इसको लेकर पूरे प्रदेश के प्रधान आंदोलित हुए। इधर बड़ी घटना में नाम आया असलपुर निवासी राहुल सिंह का। अपराध जगत में नवोदित राहुल सिंह के दुस्साहसी हत्या की घटना को अंजाम देने से सभी स्तब्ध थे।

तबसे पुलिस उसकी फिराक में भी पर कामयाबी नहीं मिली। इसी बीच 11 जनवरी 2021 की शाम गांव बाहर सड़क पर आर्मी की भर्ती के लिए दौड़ लगा रहे प्रधान हत्याकांड के गवाह शंभूराम के भतीजे अरविंद राम की पुलिया पर गोली मारकर हत्या कर दी गई। इसके बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने कई घरों में आग लगा दी थी। साथ ही इसमें आधा दर्जन पुलिस वाहन भी फूंक दिए गए थे।

प्रधान की हत्या करने के लगभग तीन साल बाद तक वह पुलिस की पकड़ में नहीं आया था कि शनिवार को बिहार पुलिस की गिरफ्त में वह आ गया। बिहार के गोपालगंज से उसकी गिरफ्तारी की सूचना इंटरनेट मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है। इसमें वही पुलिस के समक्ष पूछताछ में सभी घटना को बयां करता दिख रहा है। हालांकि पुलिस प्रशासन अभी तक ऐसी किसी सूचना से इंकार कर रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं