Breaking News

मऊ में बड़ी कार्रवाई: कब्जा में सचिवालय के विशेष सचिव समेत 18 पर केस

मुल्क तक न्यूज़ टीम, मऊ. मऊ जिले की तहसील क्षेत्र के ग्रामसभा लखनीमुबारकपुर में लखनऊ सचिवालय में तैनात विशेष सचिव अशोक कुमार व उनके दो भाइयों सहित गांव के 18 लोगों पर ग्रामसभा की पोखरी पाटकर मकान बनाने के आरोप में बेदखली का मुकदमा दर्ज किया गया है। मुख्यमंत्री पोर्टल पर की गई शिकायत के बाद तहसीलदार की उपस्थिति में हुई पैमाइश के बाद सरकारी जमीन पर कब्जे का मामला सामने आया था। अब प्रशासन की ओर से बेदखली की कार्रवाई के लिये कवायद तेज कर दी गई है।

लखनीमुबारकपुर निवासी राजू पुत्र स्व0 रामभवन ने मुख्यमंत्री को ग्रामसभा की पोखरी पाटकर कब्जा करने का शिकायती पत्र भेजा था। शिकायती पत्र में बताया था कि आराजी संख्या 1258 को गांव के ही लखनऊ सचिवालय में तैनात विशेष सचिव अशोक कुमार व उनके परिवार वालों ने पाटकर मकान बनाकर लिया है। तहसीलदार उमेश सिंह ने बताया कि शिकायत मिलने के बाद मौके पर पैमाइश की गई। इसमें अशोक कुमार व उनके दो भाइयों सहित 18 लोगों का अवैध कब्जा पाया गया।

अवैध कब्जे की पुष्टि होने के बाद राजस्व निरीक्षक की रिपोर्ट पर विशेष सचिव अशोक कुमार, उसके भाई रामदरश व अमित पुत्र सुन्दर प्रसाद,  सत्येन्द्र, हरेन्द्र पुत्र रामनाथ, तुफानी व रामधारी पुत्र अवतार, रामधारी, रामाशीष, रामपति व रामनौमी पुत्र सुमेर, राजू, रंजीत, अमरजीत, संदीप व रविन्द्र पुत्र रामभवन, बृजभान व सूर्यभान पुत्र विशुनी सहित कुल 18 लोगों पर तहसीलदार न्यायालय में धारा 67 (1) के तहत 29 अप्रैल को बेदखली का मुकदमा कायम किया गया है।

अब पोखरी से बेदखली की कार्रवाई की जायेगी। कानूनगो जितेंद्र राम ने बताया कि शिकायत के बाद मामले में मौके की पैमाइश करते हुए अवैध रुप से पोखरी पर कब्जा किये लोगों पर धारा 67 (1) के तहत न्यायालय तहसीलदार की कोर्ट में बेदखली का मुकदमा कायम किया गया है। वहीं सचिवालय में विशेष सचिव अशोक कुमार ने कहा कि मैंने पोखरी पर कोई अतिक्रमण नहीं किया है। मैं 35 साल से बाहर नौकरी कर रहा हूं। लेकिन यदि पोखरी पर अतिक्रमण की बात है तो प्रशासन विधिक कार्रवाई करें। इसमें हमें कोई एतराज नहीं है।

कोई टिप्पणी नहीं