Breaking News

जब संजय दत्त तड़के चार बजे पहुंचे सलमान खान के घर और चिल्लाए, ‘दम है तो बाहर निकल... ’

मुल्क तक न्यूज़ टीम, मुंबई. संजय दत्त की नई फिल्म ‘केजीएफ 2’ गुरुवार को बैसाखी के दिन पूरे देश में अपनी मूल भाषा कन्नड़ के अलावा तमिल, तेलुगू और हिंदी में भी रिलीज हो रही है। इस फिल्म में वह अधीरा की भूमिका में नजर आएंगे जो फिल्म के नायक यश से भी ज्यादा खतरनाक खलनायक है। 
 
 ऐसा नहीं है कि संजय दत्त पहली बार किसी फिल्म में खलनायक या निगेटिव भूमिका निभा रहे है।  ‘खलनायक’ के नाम से बनी सुभाष घई की फिल्म में तो वह खलनायक की टाइटल भूमिका में थे। ‘खलनायक’ के बाद वह ‘वास्तव’, ‘मुसाफिर’, ‘अग्निपथ’ और ‘पानीपत’ सरीखी फिल्मों में भी निगेटिव भूमिका निभा चुके हैं। असल जिंदगी में भी संजय दत्त की सच्चाई सबको पता है लेकिन इस बांद्रा ब्वॉय की असल दबंगई फिल्मी ‘दबंग’ सलमान खान ने भी देखी है। चलिए, बताते हैं आपको ये दिलचस्प किस्सा और साथ ही कुछ और किस्से संजू बाबा के...

सलमान खान को मारने पहुंचे संजू
सलमान खान और संजय दत्त के बीच बहुत पुराना रिश्ता है। दोनों एक दूसरे को मानते भी बहुत हैं। फिल्मों से पहले दोनों का दोस्ताना दोनों परिवारों के बीच बने पारिवारिक रिश्ते के चलते पनपा। लेकिन एक जमाना ऐसा भी आया जब सलमान खान की शोहरत संजय दत्त के स्टारडम से भी आगे निकल गई और सलमान खान फिल्म जगत के कुछ लोगों को अपनी दबंगई दिखाने लगे थे। सलमान के इस लपेटे में संजय दत्त के कुछ करीबी भी आ गए। बताते हैं कि संजय दत्त को इसकी भनक लगी तो वह  सलमान खान को मारने उनके घर तड़के बजे पहुंच गए थे। अगला किस्सा बताते हैं आपको श्रीदेवी का...


जब श्रीदेवी ने संजय दत्त को किया ‘गुमराह’
‘गुमराह’ फिल्म की शूटिंग के दौरान संजय दत्त श्रीदेवी के पीछे पड़े रहते थे। लेकिन, श्रीदेवी को कभी छेड़ नहीं पाए। वह श्रीदेवी को छेड़ने के मौके ढूंढते रहते थे लेकिन श्रीदेवी हमेशा संजय दत्त की मंशा समझ जाती थी और उनसे कन्नी काट लेती थी। कई बार शूटिंग के दौरान श्रीदेवी जिस रास्ते से आने वाली होती थी, संजय उस रास्ते में कोई छुपने की जगह देखकर वहीं बैठ जाते थे। लेकिन, श्रीदेवी को उनके छुपने का आभास पहले से ही हो जाता था और वह अपना रास्ता बदल देती थी। फिल्म ‘गुमराह’ इंग्लिश फिल्म ‘बैकांक हिल्टन’ की हू ब हू कॉपी थी और कहते हैं कि संजय दत्त ने खुद महेश भट्ट को इस फिल्म की डीवीडी लाकर दी थी।


संजय दत्त को समझ नहीं आया हिरानी का काम
विधु विनोद चोपड़ा ने संजय दत्त को ‘मुन्नाभाई एम्बीबीएस’ के लिए जब साइन किया तो संजय दत्त को डायरेक्टर के रूप में राजकुमार हिरानी पसंद नहीं थे। और फिल्म करने के मूड में नहीं थे। विधु विनोद चोपड़ा के आग्रह पर किसी तरह राजू हिरानी के साथ वह काम करने के लिए तैयार तो हुए लेकिन सेट पर उन्हें राजकुमार  हिरानी का काम बिल्कुल पसंद नहीं आ रहा था। राजकुमार  हिरानी अलग अलग कैमरा एंगल से शूट कर रहे थे और संजय दत्त को समझ नहीं आ रहा था कि वह क्या कर रहे हैं। हालांकि बाद में संजय दत्त को अपनी गलती का एहसास हुआ और फिल्म हिट होने के बाद उन्होंने हिरानी से अपने बर्ताव के लिए माफ़ी भी मांगी।


करण जौहर सबसे अजीज
यूं तो हिंदी सिनेमा में संजय दत्त के बहुत सारे दोस्त और करीबी है लेकिन वह करण जौहर को सबसे ज्यादा मानते हैं। इसके पीछे वजह यह है कि जब संजय दत्त पहली बार गिरफ्तार हुए तो उस समय करण जौहर के पिता यश जौहर ने उनको छुड़ाने में काफी मदद की थी।  मुंबई बम धमाकों में गिरफ्तारी के समय संजय दत्त फिल्म ‘गुमराह’ की ही शूटिंग करने मुंबई आ रहे थे। मॉरिशस में वह फिल्म ‘आतिश’ की शूटिंग करके जब मुंबई लौटे तो एयरपोर्ट पर गिरफ्तार कर लिए गए। आज भी संजय दत्त फिल्म ‘गुमराह’ के निर्माता रहे यश जौहर के अहसान को भूले नहीं है और उनके बेटे करण जौहर को कभी किसी बात के लिए ना नहीं करते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं