Breaking News

Saria Cement Rate Today Mau: सरिया के दामों में लगातार उछाल, गरीबों के आशियानों पर महंगाई का ब्रेक

मुल्क तक न्यूज़ टीम, मऊ. Saria Cement Rate Today Mau: रूस-यूक्रेन के लगातार चल रहे युद्ध का असर अब आम आदमी पर भी पड़ने लगा है। लगातार पेट्रोल व डीजल के दाम बढ़ने से बिल्डिग मैटेरियल के सामानों के दाम जहां बढ़ते जा रहे हैं वहीं अन्य सामान भी महंगे हो रहे हैं। खासकर गर्मी में अपना आशियाना बनाने वाले गरीबों पर महंगाई ने ब्रेक लगा दिया है।

बिल्डिग मैटेरियल में सबसे ज्यादा लोहे की सरिया के दामों में लगातार उछाल है। करीब एक महीने के अंदर लोहे के सरिया के दामों में न केवल लगातार भारी उछाल देखने को मिली बल्कि महीने के भीतर ही 6800 रुपये क्विटल बिकने वाला सरिया अचानक बढ़कर 9500 रुपये तक पहुंच गए। सरिया के भाव एक महीने के अन्दर 28 रुपये तक हुई वृद्धि ने तो घर बना रहें लोगों के लिए और मुसीबत खड़ी कर दिया। 

उधर बिल्डिग मैटेटेरियल के कारोबारियों ने संभावना व्यक्त किया है कि आने वाले दिनों में सरिया के दामों में लगातार बढ़ोतरी होती रहेगी। बिल्डिग मटेरियल के दामों में सीमेंट के भाव ऊंचाई पर छाए हुए है। दो हफ्ते के भीतर 365 से 370 बोरी बिकने वाले सीमेंट अब सीधे 400 से 405 प्रति बोरी हो गई है। इसी तरह गिट्टी बालू के दामों में भी भारी उछाल देखने को मिल रही है। 

बिल्डिग मैटेरियल्स से जुड़े कारोबारी पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों और रूस -क्रेन के बीच चल रहे युद्ध होने की दलील दे रहे हैं। कहाकि दोनों देशों के बीच युद्ध के चलते कच्चे सामग्रियों के आयात निर्यात प्रभावित होने से भारतीय बाजार के बिल्डिग मैटेरियल्स पर भी काफी प्रभाव पड़ा है। बिल्डिग मैटेरियल्स कारोबारी बृजेश कुमार गुप्ता का कहना है कि दोनों देशों के बीच चल रहे भीषण युद्ध के चलते निर्माण सामग्री के कच्चे माल के लिए एक दूसरे पर निर्भरता होने के चलते भारतीय बाजार भाव काफी उथल-पुथल है। कुछ बड़े कारोबारी मौका का फायदा उठाते हुए स्टाक दबाए हुए हैं। 

इसके चलते बिल्डिग मैटेरियल के बढ़ते दामों लगातार हो रही बढ़ोतरी की भी एक वजह बनी हुई है। बहरहाल बिल्डिग मटेरियल के दामों में लगातार हो रही बढ़ोतरी ने जहां गरीबों और मध्यम वर्ग के लोगों को आशियाना बनाने के उम्मीदों को तोड़ रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं