Breaking News

रूस से तेल खरीद पर अमेरिका बदला , बोला-भारत नहीं कर रहा उल्लंघन

मुल्क तक न्यूज़ टीम, नई दिल्ली. रूस से भारत के तेल खरीदने पर अमेरिका के रूख में बड़ा बदलाव आया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जो बाइडेन की सोमवार को हुई वर्चुअल मीटिंग के बाद अमेरिकी सरकार ने अहम बयान दिया है। व्हाइट हाउस प्रवक्ता जेन साकी (Jen Psaki) ने कहा है कि रूस से एनर्जी आयात पर प्रतिबंध नहीं है और भारत अमेरिकी प्रतिबंधों का उल्लंघन नहीं कर रहा है।
मोदी-बाइडेन मीटिंग के बाद बदला रूख


अमेरिका के रूख में यह अहम बदलाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन की सोमवार की हुई वर्चुअल मीटिंग के बाद आया है। जेन साकी ने कहा कि ऊर्जा आयात पर प्रतिबंध नहीं है और वे हमारे प्रतिबंधों का उल्लंघन नहीं करते हैं। हम निश्चित रूप से मानते हैं कि हर देश उनके हित में  कदम उठाने जा रहा है।

बाइडेन ने कहा-भारत के साथ सहयोग बढ़ाने को तैयार

हालांकि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वर्चुअल बैठक यह जरूर कहा कि रूस से तेल की खरीद बढ़ाना भारत के हित में नहीं है और वह ऊर्जा आयात में और विविधता लाने में भारत की मदद करने को तैयार हैं।  साकी ने मोदी-बाइडन वार्ता के तुरंत बाद संवाददाता सम्मेलन में पत्रकारों से कहा कि वार्ता रचनात्मक रही और भारत के साथ संबंध अमेरिका और राष्ट्रपति के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। अभी भारत अपनी जरूरत का एक से दो फीसदी तेल रूस से जबकि 10 फीसदी तेल अमेरिका से आयात करता है।


कोई टिप्पणी नहीं