Breaking News

Mau News: पारिवारिक कलह से फांसी लगाकर युवक ने दी जान

मुल्क तक न्यूज़ टीम, मऊ. घोसी कोतवाली क्षेत्र के भटमिला बाजार अनुसूचित बस्ती में शनिवार की रात अपने ही खेत में स्थित बबूल के पेड़ पर गले में प्लास्टिक की रस्सी के सहारे फांसी लगाकर जान दे दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पेड़ से उतरवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

भटमिला के अनुसूचित बस्ती निवासी 38 वर्षीय संतोष पुत्र तूफानी की पहली शादी खुरहट के पास शीला संग हुई थी। इसके बाद लगभग छह वर्ष पूर्व में छुट्टी- छुट्टा हो गया था। उसके पश्चात दूसरी शादी आरती के साथ हुई। लगभग दो वर्ष पहले वह एक बच्चे को साथ में लेकर आई थी। 

होली के बाद दस दिन पहले घर (ससुराल) से राशन-पानी लेकर पति से झगड़ा करके चली गई। बीते शुक्रवार को घोसी कोतवाली पहुंचकर थाने में फोन कर बुला रही थी। इसके बावजूद संतोष वहां नहीं गया। वह कई रोगों से पीड़ित था। उसका इलाज चल रहा था। शनिवार की देर रात घर से दक्षिण दिशा में लगभग 500 मीटर की दूरी पर अपने ही गेहूं के खेत मे बबूल के पेड़ के पास चप्पल उतार कर पेड़ पर चढ़ गया। 

गले में प्लास्टिक की रस्सी का फंदा बनाकर डाल कर पेड़ से लटक कर आत्म हत्या कर ली। रविवार की सुबह ग्रामीण शौच करने गए तो पेड़ पर लटका शव देख गांव में शोर मचाए। मृतक तीन भाइयों में दूसरे नंबर पर था। पहला भाई अशोक मजदूरी करता है। तीसरा भाई भी घर पर रहकर मजदूरी करता है। सभी अलग- अलग रहते है। तीन बहन शादी शुदा अपने घर रहती है। 

स्वजन के अनुसार झगड़े के दौरान पत्नी खेत व मकान अपने नाम करने के लिए हमेशा कह रही थी। ग्रामीणों ने यह भी बताया कि शनिवार को भटमिला बाजार में आई थी। फोन करके बुलाई कि मैं भटमिला बाजार में हूं। आप बाजार में आ जाओ। पति वहां पहुंच कर घर पर पत्नी को चलने के लिए कहने लगा। पत्नी घर पर नहीं गयी। इसके बाद घर आकर संतोष ने पत्नी से फोन कर कहा कि घर नहीं आयी तो मेरा मरा हुआ मुंह देखोगी। रविवार पति की मौत की सूचना मिलने पर पत्नी आरती ससुराल पहुंचते ही पति के शव से लिपट कर रोने लगी।

कोई टिप्पणी नहीं