Breaking News

योगी सरकार में तेज हुई बुलडोजर की रफ्तार, करोड़ों की जमीन अवैध कब्जों से मुक्त

मुल्क तक न्यूज़ टीम, अलीगढ़/मऊ. योगी 2.0 सरकार के आने के बाद बुलडोजर की रफ्तार तेज हो गई है। सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जे के खिलाफ कार्रवाई तेज हो गई है। सोमवार को अलीगढ़ और मऊ में बुलडोजर गरजा।

अलीगढ़ में प्रशासन ने जनपद भर में अभियान चलाकर सरकारी जमीन पर बने मकान को ध्वस्त कराया। करोड़ों रुपये की जमीन कब्जा मुक्त कराई। कब्जा करने वालों को चेतावनी दी गई कि दोबारा कब्जा किया तो अब मुकदमा कायम कराया जाएगा।

डीएम सेल्वा कुमार जे ने एक सप्ताह तक अवैध जमीनों पर बुल्डोजर चलाने की रूपरेखा तय की है। सभी एसडीएम को तीन दिन पहले आदेश जारी किया गया था। उसी के तहत सोमवार को अलीगढ़ क्वार्सी थाना क्षेत्र के धोर्रामाफी में सिटी मजिस्ट्रे प्रदीप वर्मा, एसडीएम कोल संजीव ओझा, एसीएम द्धितीय एसके सोनी, सहायक नगर आयुक्त टीपी सिंह, तहसीलदार कोल डा. गजेंद्र सिंह पुलिस बल के साथ पहुंचे और सरकारी जमीन को कब्जा मुक्त कराया।

सुबह से शाम तक करीब चार जेसीबी से धोर्रामाफी में बने अवैध भवनों को ध्वस्त कर दिया गया। ग्राम धौरमाफी परगना कोल की गाटा संख्या 256 रकबा  1.826 हेक्टेयर जमीन है। उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के नाम दर्ज है।

इस जमीन पर लाडले खान पुत्र दरशद द्वारा अवैध ढंग से प्लाटिंग कर मकान बनवा दिए गए। इस जमीन का सर्किल रेट 8.5 करोड़ रुपये प्रति हेक्टेयर  है। जमीन का बाजार मूल्य करीब 10 करोड़ रुपये प्रति हेक्टयर है। कब्जा मुक्त कराई गई जमीन की कीमत 20करोड़ रुपये है।  

बड़ी संख्या में फोर्स के साथ की गई कार्रवाई
अलीगढ़ की डीएम सेल्वा कुमारी जे के निर्देश पर एसडीएम स्तर पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। सोमवार को धोर्रामाफी में विरोध की संभावना को लेकर बड़ी संख्या में पुलिस बल के साथ अधिकारी पहंचे थे। मकान ध्वस्त होने के बाद पुलिस प्रशासनिक टीम वापस लौटी। एसडीएम कोल संजीव ओझा ने बताया कि धोर्रामाफी की जमीन सरकारी अभिलेखों में उप्र सरकार के नाम पर दर्ज है। अवैध प्लाटिंग कर मकान का निर्माण करा दिया गया था। आधा दर्जन से अधिक मकानों को ध्वस्त किया गया और जमीन को कब्जा मुक्त कराया गया।

अतरौली व गभाना में भी गरजा बुल्डोजर
सरकारी जमीनों पर बुल्डोजर अतरौली व गभाना में भी गरजा। डीएम सेल्वा कुमारी जे के निर्देश पर एसडीएम गभाना भावना ने तहसीलदार  व पुलिस टीम के साथ चांदनेर गांव में पंचायत घर के पास ग्राम समाज की भूमि से अवैध कब्जे को हटवाया। यहां पर ग्रामीणों ने बाउंड्री खड़ी कर ली थी। इससे रास्ता बाधित हो रहा था। वहीं एसडीएम अतरौली रविशंकर सिंह ने पुलिस के साथ ग्राम जखैरा में गाटा संख्या 273 रकबा 0.22 1 हेक्टेअर मरघट की भूमि से अवैध कब्जा हटवाया। भूमि की कीमत करीब 7.50 लाख है।

मऊ  में अवैध अतिक्रमण के खिलाफ गरजा बुलडोजर
मऊ में जिलाधिकारी अरुण कुमार के निर्देश पर सिटी मजिस्ट्रेट, क्षेत्राधिकारी, ईओ नगर पालिका के नेतृत्व में भारी संख्या में पुलिस फोर्स ने शहर कोतवाली अंतर्गत रेलवे फाटक के पास एक दर्जन से अधिक सार्वजनिक स्थानों से अवैध अतिक्रमण बुल्डोजर के माध्यम से ध्वस्त किया गया। इस दौरान सख्ती के साथ चेताया गया कि किसी भी कीमत पर सार्वजनिक स्थानों पर अवैध अतिक्रमण को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

क्षेत्राधिकारी धनंजय मिश्र ने बताया कि शहर कोतवाली के रेलवे फाटक के पास अवैध अतिक्रमण से हमेशा ही लोगों को भीषण जाम की समस्या का सामना करना पड़ता था।  

यातायात को सुचारू रूप से संचालित बनाए रखने के लिए रेलवे फाटक थाना कोतवाली के निकट अवैध अतिक्रमण हटवाया गया। साथ ही समस्त अवैध अतिक्रमणको कार्यों को चेतावनी दी गई कि यदि भविष्य में दोबारा शिकवा करते हैं तो सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज करते हुए जुर्माना भी लगाया जाएगा।

वहीं दूसरी तरफ अवैध अतिक्रमण हटाने में जो खर्च आएगा उसे भी वसूला जाएगा। जिलाधिकारी अरुण कुमार ने अधिशासी अधिकारी नगर पालिका को निर्देशित किया गया की इसी प्रकार रौजा बाजार, सदर चौक आदि रास्तों में जो अवैध अतिक्रमण है उसे हटाने के लिए भी अभियान चलाकर कार्रवाई किया जाए।

कोई टिप्पणी नहीं