Breaking News

दिल्ली मेट्रो ने महिलाओं और बुजुर्ग यात्रियों की सहूलियत के लिए उठाया एक और बड़ा कदम

मुल्क तक न्यूज़ टीम, नई दिल्ली. दिल्ली के मेट्रो स्टेशनों पर यात्रियों के सामान की जांच अब और आसान होने जा रही है। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (DMRC) ने अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान करने के मद्देनजर चरणबद्ध तरीके से मेट्रो स्टेशन पर अत्याधुनिक 'बैगेज स्कैनर' (सामान की जांच करने वाली मशीन) लगाना शुरू कर दिया है।
डीएमआरसी (DMRC) के अधिकारियों ने रविवार को इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इन नए 'बैगेज स्कैनर' में उन्नत सुविधाओं की वजह से बुजुर्गों और महिला यात्रियों को स्कैनिंग के लिए भारी सामान उठाने और रखने के दौरान अधिक सहूलियत होगी।


डीएमआरसी (DMRC) ने कहा कि वर्तमान में कश्मीरी गेट, एम्स, विश्वविद्यालय, हुडा सिटी सेंटर, राजौरी गार्डन, मयूर विहार फेज-1, नोएडा सेक्टर-18, पालम स्टेशन पर एक्स-बीआईएस सिस्टम के स्थान पर यात्रियों के अनुकूल सुविधाओं वाले 34 ऐसे 'बैगेज स्कैनर' पहले ही लगाए जा चुके हैं। धीरे-धीरे इस साल के अंत तक दिल्ली मेट्रो के सभी स्टेशन पर ऐसे 250 से अधिक 'बैगेज स्कैनर' लगाए जाएंगे। वर्तमान में  डीएमआरसी नेटवर्क में विभिन्न मेट्रो स्टेशन पर लगभग 400 एक्स-बीआईएस मशीन लगे हैं।

डीएमआरसी (DMRC) ने एक बयान में कहा कि मेट्रो स्टेशन के सुरक्षा जांच स्थलों पर 'एक्स-रे बैगेज स्कैनिंग सिस्टम' (एक्स-बीआईएस सिस्टम) को और उन्नत बनाने के लिए डीएमआरसी ने चरणबद्ध तरीके से अत्याधुनिक 'बैगेज स्कैनर' लगाना शुरू कर दिया है।

ये उन्नत 'बैगेज स्कैनर' अतिरिक्त सुविधाओं से लैस हैं, जिनमें सामान की तेज निकासी, उन्नत और प्रभावी निगरानी, निरंतर ऑडियो-वीडियो निगरानी शामिल हैं। ये स्कैनर अब प्रति घंटे 550 बैग तक की जांच करने में सक्षम होंगे, जबकि पहले वाली मशीन लगभग 350 बैग प्रति घंटे जांच करने में सक्षम थी। इसके लिए 'कन्वेयर बेल्ट' की गति 18 सेमी प्रति सेकेंड से बढ़ाकर 30 सेमी प्रति सेकेंड कर दी गई है। अधिकारियों ने कहा कि इसका उद्देश्य विशेष रूप से व्यस्त समय के दौरान तलाशी लेने वाले स्थानों पर यात्रियों की भारी भीड़ को कम करना है।

उन्होंने कहा कि इन नए 'बैगेज स्कैनर' में उन्नत सुविधाएं यात्रियों के लिए सुरक्षा सुनिश्चित करेंगी और बुजुर्गों और महिला यात्रियों को स्कैनिंग के दौरान भारी सामान उठाकर रखने और उतारने के दौरान भी आसानी होगी।

अधिकारियों ने कहा कि 'बैगेज स्कैनर' के ठीक ऊपर लगा एक 360-डिग्री कैमरा एक्स-बीआईएस प्रक्रिया के स्पष्ट ऑडियो और वीडियो फुटेज को लेने में सक्षम होगा, जो किसी भी अप्रिय घटना जैसे चोरी, यात्रियों के बीच विवाद, सुरक्षा कर्मचारियों के मामले में उपयोगी हो सकता है।

स्कैनिंग मशीन के लिए ड्यूटी पर लगे बैगेज ऑपरेटर (केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल कर्मी) के लिए उपलब्ध अन्य सहायक प्रावधानों में वायरलेस सेट, मेटल डिटेक्टर और मोबाइल फोन के लिए चार्जिंग पोर्ट शामिल हैं। #DelhiMetro

कोई टिप्पणी नहीं