Breaking News

प्रॉपर्टी का शौकीन निकला जेल विभाग का AIG, अवैध कमाई से कई शहरों में खरीदी जमीन-मकान

मुल्क तक न्यूज़ टीम, पटना. बिहार में एक से एक घूसखोर अधिकारी हैं जो भ्रष्टाचार के बल पर अकूत संपत्ति अर्जित कर बैठे हैं. इसी कड़ी में एक और नया नाम जुड़ गया है बिहार के जेल विभाग के एआईजी रूपक कुमार का. असिस्टेंट इंस्पेक्टर जनरल प्रिजन एंड करेक्शनल सर्विसेज के अधिकारी के विरुद्ध आय से अधिक संपत्ति मामले में विशेष निगरानी इकाई की टीम ने जब सोमवार को उसके ठिकानों पर छापेमारी की तब ना केवल बिहार बल्कि बिहार के बाहर कई राज्यों में उसके द्वारा अर्जित अवैध संपत्ति का खुलासा हुआ है.

रूपक कुमार ने चार राज्यों में अपनी संपत्ति बनाई है. छापेमारी में जो जानकारी मिली है उसके अनुसार जेल एआईजी ने झारखंड के देवघर में अपने नाम से जमीन का एक बड़ा प्लॉट खरीदा है. इसके अलावा जमशेदपुर के डिमना में पॉश इलाके में आलीशान 3 बीएचके का एक फ्लैट खरीदा है. यही नहीं जमीन का प्लॉट भी जमशेदपुर में उन्होंने खरीदा है. झारखंड की राजधानी रांची में उसके फ्लैट के अलावा जमीन के कागजात भी मिले हैं.

पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में जमीन और फ्लैट के कागजात विशेष निगरानी की टीम ने जब्त किया है. यही नहीं नोएडा में भी रूपक कुमार ने संपत्ति खरीदी हुई है. इसके अलावा पटना के बिहटा में जमीन का प्लॉट है साथ ही राजधानी में शहरी इलाके में लोदीपुर में भी इनके नाम इनका एक फ्लैट मिला है. बेंगलुरु में इन्होंने जमीन खरीदने का एग्रीमेंट किया है. कुल मिलाकर संपत्ति अर्जित करने का हवस इस अधिकारी के सिर पर सवार था. छापेमारी के दौरान रूपक कुमार के आवास से लाखों रुपए सोने के गहने मिले हैं.

इसका मूल्यांकन अभी चल रहा है लेकिन मिली जानकारी के अनुसार 50 लाख से अधिक के आभूषण इनके आवास से मिलने की संभावना जताई गई है. विशेष निगरानी इकाई के अधिकारियों द्वारा छापेमारी की कार्रवाई चल रही है जिसके मंगलवार तक चलने की संभावना है. रूपक कुमार की करोड़ों रुपए की आय से अधिक संपत्ति के बारे में निगरानी विभाग साक्ष्य जमा कर चुकी है. भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कार्रवाई से हड़कंप मचा हुआ है और एक बार फिर से एक बड़ी मछली को निगरानी ने दबोचा है.  जिसकी अकूत संपत्ति बिहार में फैले भ्रष्टाचार की गाथा बयां कर रही है.


कोई टिप्पणी नहीं