Breaking News

मार्च में इतनी गर्मी कहां से आ गई? बारिश कब होगी, मौसम का हर अपडेट जान लीजिए

मुल्क तक न्यूज़ टीम, नई दिल्ली. दिल्ली-एनसीआर में मार्च के महीने में पिछले चार-पांच दिन से गर्मी अचानक बढ़ गई है। स्थिति यह है कि गर्मी ने अब पंखे के साथ ही एसी चलाने पर मजबूर कर दिया है। दिल्ली में पिछले कई दिन से अधिकतम के साथ ही न्यूनतम तापमान भी लगातार बढ़ रहा है। लोगों को समझ नहीं आ रहा है कि आखिर मार्च में ही मई-जून जैसी गर्मी कहां से आ गई है। दिल्ली में शनिवार को न्यूनतम तापमान 19.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह सामान्य से 3 डिग्री अधिक रहा। दिल्ली के पीतमपुरा में न्यूनतम तापमान 23.6 डिग्री और नजफगढ़ में 22.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह सामान्य से 7 डिग्री अधिक रहा। मौसम विभाग का कहना है कि अगले कुछ दिनों तक अधिकतम तापमान 36-37 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।

अभी गर्मी से राहत मिलने के आसार नहीं

वेदर एक्सपर्ट के अनुसार अभी दिल्ली वालों को गर्मी से राहत मिलने के आसार नहीं है। अगले 7 दिनों तक न्यूनतम और अधिकतम तापमान में थोड़ा-बहुत इजाफा होगा। 'स्काईमेट वेदर' के वाइस प्रेजिडेंट महेश पलावत ने बताया कि अभी कुछ दिनों तक गर्मी झेलनी पड़ेगी। मौसम की मौजूदा स्थिति सामान्य नहीं है। इस बार गर्मी समय से पहले आई है। मार्च के अंत में राजस्थान में विपरीत चक्रवाती हवाओं का दौर बनता है, जो कि इस बार पहले बन गया। किसी तरह का पश्चिमी विक्षोभ भी सक्रिय नहीं रहा है। इसकी वजह से थार मरुस्थल और मध्य पाकिस्तान से गर्म हवाएं आने लगीं। सूखी हवा और आसमान साफ होने की वजह से भी न्यूनतम और अधिकतम तापमान में रिकॉर्ड बढ़ोतरी हुई है। हालांकि, 21 और 22 मार्च को तेज हवाओं का भी पूर्वानुमान है। इससे अधिकतम तापमान 1-2 डिग्री सेल्सियस गिर कर 35 डिग्री सेल्सियस तक आ सकता है।

ह्यूमिडिडी से फील फैक्टर 2 डिग्री अधिक

मौसम विभाग के अधिकारियों ने कहा कि अधिक आर्द्रता के कारण मौसम गर्म हो रहा है। इससे लोगों को परेशानी हो रही है। आईएमडी के सीनियर साइंटिस्ट आरके जेनामनी ने कहा कि शुक्रवार से पूर्वी हवाएं चल रही हैं, आर्द्रता के स्तर में 20-25% की वृद्धि हुई है। इस वजह से मौसम पहले से ज्यादा गर्म होता नजर आ रहा है। अधिक आर्द्रता ने फील फैक्टर को 2% बढ़ा दिया है। तो, यदि तापमान 36 डिग्री सेल्सियस है, तो ऐसा लगता है कि यह 38 डिग्री सेल्सियस है। हालांकि मार्च के महीने में तीन से चार पश्चिमी विक्षोभ आमतौर पर इस क्षेत्र को प्रभावित करते हैं, लेकिन अब तक कोई सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ नहीं देखा गया है। इस वजह से मौसम अधिक गर्म और शुष्क बन रहा है।

मार्च में 20 दिन बीते अभी तक नहीं हुई बारिश

दिल्ली में शनिवार को अधिकतम तापमान सामान्य से छह डिग्री अधिक 36.6 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। आरके जेनामनी के अनुसार पारे का स्तर लगातार सामान्य से ऊपर दर्ज किया जा रहा है। इस महीने में अब तक बारिश की कोई गतिविधि नहीं हुई है। इसके कारण भी गर्मी अधिक लग रही है। आईएमडी के आंकड़ों से पता चलता है कि मार्च 2021, 2020 और 2019 में क्रमश: दो, 10 और छह बारिश के दिन दर्ज किए गए। इससे लोगों को गर्म मौसम से कुछ राहत मिली थी। मार्च 2018 में भी दिल्ली में बारिश नहीं हुई थी।

कोई टिप्पणी नहीं