Breaking News

अच्छी खबर: ब्रांडेड सेफ्टी जूते पहनकर रेल ट्रैक पर काम करेंगे कर्मचारी, पैरों में नहीं पड़ेंगे छाले

मुल्क तक न्यूज़ टीम, गोरखपुर. रेल लाइनों पर कार्य करने वाले चुतर्थ श्रेणी कर्मचारियों (ट्रैक मेंटेनरों) के पैरों में अब छाले नहीं पड़ेंगे। अब वे भी ब्रांडेड सेफ्टी शूज पहनकर पटरियों की मरम्मत व देखभाल कर सकेंगे। रेलवे बोर्ड के दिशा-निर्देश पर पूर्वोत्तर रेलवे के लखनऊ मंडल प्रशासन ने गोरखपुर सहित 16 रेल खंडों के 2479 ट्रैक मेंटेनरों को सेफ्टू शूज सहित सुरक्षा उपकरणों का वितरण शुरू कर दिया है। 

जिसमें गोरखपुर पूर्व के 240 व पश्चिम के 180 ट्रैक मेंटेनर शामिल हैं। एनई रेलवे मजदूर यूनियन (नरमू) ने गोरखपुर दौरे पर आए रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष व सीईओ विनय कुमार त्रिपाठी के समक्ष कर्मचारियों की समस्याएं उठाते हुए यथाशीघ्र सेफ्टी शूज दिलाने क मांग की थी। बोर्ड अध्यक्ष ने मौके पर ही इंजीनियरिंग विभाग को यथाशीघ्र वितरण के लिए निर्देशित किया था।

नरमू के महामंत्री केएल गुप्ता ने इस फैसले का किया स्वागत

नरमू के महामंत्री केएल गुप्ता ने रेलवे बोर्ड और पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन के तत्काल लिए गए फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा है कि देर से ही सही ट्रैक मेंटेनरों को सेफ्टी शूज तो मिला। रेलवे बोर्ड के निर्देश के बाद भी ट्रैक मेंटेनरों को सेफ्टी शूज और सुरक्षा उपकरण नहीं मिल रहा था। इसको लेकर रेलकर्मियों में आक्रोश था।

एआइआरएफ के महामंत्री ने भी इस प्रकरण को उठाया था

आल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन (एआइआरएफ) के महामंत्री शिव गोपाल मिश्र ने पिछले वर्ष नई दिल्ली में बोर्ड के साथ आयोजित बैठक में इस प्रकरण को गंभीरता के साथ उठाया था। यहां जान लें कि पिछले तीन साल से पूर्वोत्तर रेलवे के ट्रैक मेंटेनर बिना सेफ्टी शूज और उपकरण के कार्य कर रहे हैं।

इन रेलखंडों के ट्रैक मेंटेनरों को देया जाएगा सेफ्टी शूज

गोरखपुर पूर्व - 180

गोरखपुर पश्चिम- 240

ऐशबाग - 180

बादशाहनगर- 232

जरवल रोड- 230

गोंडा- 153

मनकापुर - 180

बस्ती - 205

आनंदनगर - 140

सीतापुर - 104

लखीमपुर- 93

बिसवा - 130

मैलानी - 70

तिकोनिया- 103

बहराइच- 137

नानपारा- 102

कोई टिप्पणी नहीं