Breaking News

‘एरिया इंस्पेक्शन एप’ से होगी एक-एक काम की निगरानी, मऊ के DM और CDO खुद पहुंचेंगे एक-एक काम पर

मुल्क तक न्यूज़ टीम, मऊ. केंद्र सरकार ने कई नए एप बनाए हैं। इसके जरिए गुणवत्ता की मानिटरिंग शुरू कर दी है। अब ‘एरिया इंस्पेक्शन एप’ से खुद डीएम, सीडीओ एक-एक काम की मौके पर जाकर जांच करेंगे। इस एप पर काम की जांच के लिए शासन ने नए आदेश जारी किए हैं। इसमें जिलाधिकारी या स्वयं के चयनित अधिकारी को पांच से 10, मुख्य विकास अधिकारी को 15, डीसी मनरेगा 15, बीडीओ को 30 तथा एपीओ को 30 मनरेगा के तहत चल रहे कामों की मौके पर जाकर जांच करनी होगी। इसमें काम चलते समय की फोटो सहित स्टीमेट, बिल बाउचर, एमबी आदि सभी दस्तावेज एप पर अपलोड किया जाएगा। मनरेगा में पारदर्शिता को लेकर केंद्र सरकार ने नए नियम जारी किए हैं।

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना में गुणवत्ता और पारदर्शिता को लेकर केंद्र सरकार ने कई प्रबंध किए हैं। जहां ‘एनएमएमएस’ यानि नेशनल मोबाइल मानिटरिंग सिस्टम से मनरेगा मजदूरों पर निगरानी रखी जाएगी, वहीं ‘एरिया इंस्पेक्शन एप’ से कार्यों की पारदर्शिता जांची जाएगी। केंद्र सरकार के आदेश पर अब अधिकारी स्वयं मौके पर जाएंगे। सरकार के इस पहल से अब बिना काम के भुगतान नहीं हो पाएगा। 

सरकार ने कई तरह के एप से एकदम बांधने का काम किया है। प्रति माह सभी अधिकारियों को एप पर इसकी रिपोर्टिंग करनी होगी। इसका असर यह होगा कि जहां धरातल पर काम दिखेंगे, वहीं मजदूरों को भी अधिकाधिक रोजगार भी मिलेंगे। ‘एरिया इंस्पेक्शन एप’ पर पूछे गए 11 प्रश्नों के जवाब को भी फाइल करना होगा। प्रत्येक काम के दस्तावेज व भौतिक मिलान भी मौके पर ही किया जाएगा।

‘एरिया इंस्पेक्शन एप’ पर मौके की फोटो के साथ सभी दस्तावेज अपलाड किए जाएंगे

‘एरिया इंस्पेक्शन एप’ पर मौके की फोटो के साथ सभी दस्तावेज अपलाड किए जाएंगे। सरकार ने जांच के लिए सभी अधिकारियों को अलग-अलग टारगेट दिया है। इससे जहां काम में गुणवत्ता आएगी, वहीं पारदर्शिता भी होगी।- उपेंद्र पाठक, डीसी मनरेगा, मऊ।

कोई टिप्पणी नहीं