Breaking News

देश में ओमिक्रॉन : हर घंटे मिल रहे पांच मरीज, पढ़ें केंद्र की नसीहत के बाद कहां-कितनी सख्ती

मुल्क तक न्यूज़ टीम, नई दिल्ली. देश में ओमिक्रॉन तेजी से पांव पसार रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि बीते 24 घंटे में देश में पहली बार सबसे अधिक 122 लोगों में ओमिक्रॉन मिला है। यानी औसतन हर घंटे 5 मरीज मिल रहे हैं। ओमिक्रॉन से ग्रसित मरीजों की संख्या 358 हो गई है।



इसमें से 114 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं या प्रवास कर चुके हैं। मंत्रालय के अनुसार ओमिक्रॉन के 358 मामले अब तक 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में आए हैं। महाराष्ट्र में ओमिक्रॉन के सर्वाधिक 88, दिल्ली में 67, तेलंगाना में 38, तमिलनाडु में 34, कर्नाटक में 31 और गुजरात में 30 मामले सामने आए हैं।

देश में बीते 24 घंटे में 6,650 नए मरीज मिले हैं जबकि 374 की मौत हुई है। वहीं सक्रिय मामलों की संख्या गिरकर 77,516 हो गई है। देश में अब तक टीके की 140.31 करोड़ से अधिक खुराक लग चुकी है।

ओमिक्रॉन से 108 देशों में 26 मौतें 1,51,368 मामले सामने आए

ब्रिटेन, डेनमार्क, कनाडा, नॉर्वे, जमर्नी, अमेरिका, दक्षिण-अफ्रीका, फ्रांस, ऑस्ट्रेलिया और एस्टोनिया में ओमिक्रॉन के सबसे अधिक मामले सामने आए हैं। दुनिया के 108 देशों 1,51,368 मामले सामने आ चुके हैं और 26 मरीजों की मौत हो चुकी है।

दिल्ली में ओमिक्रॉन से ग्रसित 40 मरीजों को सिर्फ मल्टी विटामिन और पैरासिटामॉल

दिल्ली के लोकनायक अस्पताल में ओमिक्रॉन के 40 मरीजों को इलाज के दौरान सिर्फ मल्टी विटामिन व पैरासिटामॉल दी गई है। अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टर ने बताया कि इनमें से 19 मरीज ठीक हो चुके हैं। 90% मरीजों में संक्रमण के लक्षण नहीं थे। अन्य मरीजों में गले में खराश, हल्का बुखार व दर्द जैसी तकलीफ दिखी।

दुनिया कोरोना की चौथी लहर से जूझ रही, हम सतर्कता कम नहीं कर सकते : केंद्र

केंद्र सरकार ने शुक्रवार को कहा, दुनिया कोरोना की चौथी लहर से जूझ रही है। संक्रमण दर अब भी 6.1 फीसदी से अधिक बनी है। ऐसे में हम सतर्कता कतई कम नहीं कर सकते हैं। देशवासियों को आगाह करते हुए सरकार ने सुरक्षित रहने के लिए बेवजह की यात्रा, नियमों के पालन में लापरवाही, क्रिसमस व न्यू ईयर के मौकों पर उत्सव व भीड़भाड़ में शामिल होने से बचने की नसीहत दी है।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया, देश में कोरोना का मुख्य स्वरूप अभी डेल्टा ही है। केरल और मिजोरम में संक्रमण दर राष्ट्रीय औसत से अधिक है। देश के 20 जिलों में कोरोना की साप्ताहिक संक्रमण दर 5 से 10 फीसदी के बीच है। दो जिलों में यह 10 फीसदी से अधिक है। भूषण ने बताया कि कोरोना के मामले यूरोप, उत्तर अमेरिका और अफ्रीका में तेजी से बढ़ रहे हैं। इनकी तुलना में एशिया में गिरावट आई है।

91 फीसदी संक्रमितों को लग चुकीं दोनों खुराक

सरकार ने बताया कि ओमिक्रॉन का खतरा बढ़ रहा है। ओमिक्रॉन मामले डेढ़ से तीन दिन में दोगुना हो जाता है। अब तक मिले 358 मामलों में 183 के अध्ययन में पता चला है कि 91% संक्रमितों को टीके की दोनों खुराकें लग चुकी हैं और तीन मरीजों को तो बूस्टर डोज भी लगी है। इनमें 70 फीसदी में लक्षण नहीं था और 61 फीसदी पुरुष थे।

ओमिक्रॉन पर बूस्टर खुराक के असर का अध्ययन करेगी सरकार

ओमिक्रॉन के मद्देनजर केंद्र टीके की तीसरी खुराक देने पर विचार कर रहा है। सूत्रों के अनुसार, इसके लिए दोनों खुराक ले चुके 3000 लोगों पर एक परीक्षण किया जाएगा। इसमें तीसरी खुराक के शरीर पर प्रभाव के साथ ओमिक्रॉन के खिलाफ विकसित प्रतिरोधक क्षमता का अध्ययन किया जाएगा।

नए साल में सख्ती

कर्नाटक : राज्य में 30 दिसंबर से दो जनवरी तक सख्ती रहेगी। नए वर्ष के स्वागत के लिए लोगों को एकत्र होने की इजाजत नहीं होगी। रेस्टोरेंट में क्षमता से 50% लोगों के बैठने की इजाजत होगी।

ओडिशा : 25 दिसंबर से दो जनवरी तक भीड़-भाड़, रैली, ऑर्केस्ट्रा पर रोक लगा दी है। क्लब, रेस्टोरेंट, पार्क व होटल में कोई उत्सव नहीं होगा।

तमिलनाडु :  चेन्नई में 31 दिसंबर से एक जनवरी तक किसी भी बीच पर प्रवेश की अनुमति नहीं। कार्यक्रम भी 31 दिसंबर तक बंद रहेंगे।

महाराष्ट्र : चर्चों में कुल क्षमता से सिर्फ 50% लोगों को प्रवेश मिलेगा। बीएमसी ने मुंबई में नए साल के जश्न पर आयोजित होने वाले सभी तरह के कार्यक्रमों और पार्टियों पर रोक लगा दी है। 

जम्मू-कश्मीर : सड़क से आने वालों का रैपिड एंटीजन टेस्ट होगा। 33% यात्रियों की आरटी-पीसीआर जांच अनिवार्य कर दी गई है।

कहां-कहां लगा नाइट कर्फ्यू?

1. मध्य प्रदेश 

मध्य प्रदेश में कोरोना केस में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। इसके चलते सीएम शिवराज सिंह चौहान ने नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया है। राज्य के सभी शहरों में रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू रहेगा। इसके अलावा वैक्सीन के दोनों डोज नहीं लगवाने वाले 18 साल से ऊपर के लोगों को सिनेमा हॉल, मल्टीप्लेक्स, थिएटर, जिम, कोचिंग क्लासेस, स्वीमिंग पूल, क्लब, स्टेडियम में एंट्री नहीं मिलेगी। सरकारी कर्मचारियों को दोनों डोज अनिवार्य कर दिए गए हैं। उन्हें ड्यूटी पर भी आना होगा। इसके साथ ही महाकालेश्वर मंदिर में भस्मारती में भी श्रद्धालुओं का प्रवेश बंद कर दिया गया है। 

2. हरियाणा

हरियाणा में 25 दिसंबर रात 12 बजे से रात्रि कर्फ्यू लागू हो जाएगा। रात्रि कर्फ्यू रात 11 बजे से सुबह पांच बजे तक प्रभावी होगा। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों की संभावना के मद्देनजर लोगों की सुरक्षा के लिए सार्वजनिक स्थलों व अन्य कार्यक्रमों में 200 से अधिक लोगों के एकत्र होने की अनुमति दी जाए।

पब्लिक सेक्टर से संबंधित संस्थानों में एंट्री के लिए टीकाकरण की दोनों डोज को अनिवार्य करें। मुख्यमंत्री शुक्रवार को कोविड समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि ओमिक्रॉन के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए जरूरी है कि लोगों को अधिक से अधिक जागरुक किया जाए। टीकाकरण की तरफ अधिक ध्यान दिया जाए। 

3. गुजरात

वर्तमान में कोरोना स्थिति को देखते हुए 25 दिसंबर से अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत, राजकोट, भावनगर, जामनगर, गांधीनगर और जूनागढ़ में रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा। गुजरात मुख्यमंत्री कार्यालय ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी।

मौजूदा नाइट कर्फ्यू की पाबंदियों के तहत रेस्टोरेंट आधी रात तक 75% लोगों के साथ खुले रह सकते हैं। आधी रात तक होम डिलीवरी और टेक-अवे सेवाओं की भी अनुमति है। इसके अलावा दिल्ली, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, कर्नाटक, तमिलनाडु और ओडिशा ने क्रिसमस और न्यू ईयर के मद्देनजर प्रतिबंध लगाए हैं। इन पाबंदियों का मकसद जश्न के लिए जुटने वाली भीड़ को रोकना है।

4. उत्तर प्रदेश

प्रदेश में रात के कर्फ्यू का दौर फिर लौट आया है। देशभर में कोरोना के बढ़ते मामलों और नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के खतरे की आशंका को देखते हुए योगी सरकार ने शनिवार से पूरे सप्ताह रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक रात्रिकालीन कर्फ्यू लाने का फैसला किया है।

यही नहीं, शादी-विवाह तथा अन्य सार्वजनिक आयोजनों में कोविड प्रोटोकॉल के साथ अधिकतम 200 लोगों के ही शामिल होने की अनुमति होगी। आयोजनकर्ता को इसकी सूचना स्थानीय प्रशासन को देनी होगी। इस संबंध में मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने शुक्रवार देर शाम शासनादेश जारी कर दिया।

5. राजस्थान

प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर के बाद से ही नाइट कर्फ्यू लागू है। केस कम होने के बाद इनमें कुछ रियायत दी गई थी, लेकिन ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए सरकार फिर अलर्ट मोड में आ गई है।

कोई टिप्पणी नहीं