Breaking News

गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे की तैयारियां तेज, बिहार के इन जिलों से गुजरेगा एक्सप्रेसवे

मुल्क तक न्यूज़ टीम, पटना. बिहार में जल्द ही चौथे एक्सप्रेस-वे के रूप में गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे का निर्माणकार्य शुरू हो जाएगा.  केंद्र सरकार की तरफ से इसके लिए सैद्धांतिक मजूरी मिल गई है. और बिहार पथ निर्माण विभाग ने भी इस एक्सप्रेस-वे के निर्माण कराने की तैयारियां तेज कर दी है.  

यह एक्सप्रेस-वे उत्तर प्रदेश से होकर बिहार के अधिकतर जिलों के रास्ते बंगाल को जाएगी. गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे के बन जाने के बाद तीनों राज्यों के बीच सहज आवागमन के साथ-साथ व्यापार को बढ़ावा मिलेगा. इस एक्सप्रेस-वे से गोरखपुर से सिलीगुड़ी की दूरी महज 600 किलोमीटर रह जाएगी. गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे की खास बात यह है कि यह बिहार के अधिकतम जिलों से होकर गुजर रही है जिसकी कुल लंबाई 416 है.

बिहार के इन जिलों से होकर गुजरेगी गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे 

पथ निर्माण विभाग मंत्री नितिन नवीन ने बताया कि गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे बिहार के गोपालगंज जिले से प्रवेश करेगी और यह सीवान, छपरा, सारण, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, सहरसा, पूर्णिया, किशनगंज से होते हुए सिलीगुड़ी तक जाएगी. इस एक्सप्रेस-वे से समूचे बिहार खासकर उत्तर बिहार के लोगों को सबसे अधिक लाभ मिलने वाला है. यह सड़क सूबे के लिए वरदान साबित होगा. एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य पूरा होने से बाद लोगों का सफर आसान हो जाएगा और राज्य में विकास के रास्ते खुलेंगे.

ये होगी इस एक्सप्रेस-वे की खासियत

गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे में किसी पुरानी सड़क को शामिल नहीं किया जाएगा. इसका पूरा हिस्सा ग्रीन फील्ड होगा. इसके आलावा इस एक्सप्रेस-वे को गोरखपुर से सिलीगुड़ी तक सीधे ले जाने का प्रयास किया जा रहा है. और तो और इसे ऐसे इलाको से ले जाने का प्रयास किया जा रहा है जहां आबादी न के बराबर हो ताकि जमीन अधिग्रहण करने में ज्यादा समस्याएं न झेलनी पड़े. आमतौर पर एक्सप्रेस-वे पर गाड़ियों की रफ्तार 100 किलोमीटर प्रति घंटे से अधिक होती है ऐसे में इस सड़क का अलाएनमेंट तय करने में खासा ध्यान भी रखा गया है.

बिहार में औरंगाबाद-जयनगर एक्सप्रेस-वे, रक्सौल-पटना एक्सप्रेस-वे, बक्सर-भागलपुर एक्सप्रेस-वे के बाद चौथा गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे प्रस्तावित है. इन चारो एक्सप्रेस-वे में से कुछ जैसे औरंगाबाद-जयनगर एक्सप्रेस-वे के निर्माणकार्य की प्रक्रिया चल रही है इस एक्सप्रेस-वे के लिए भूमि अधिग्रहण का काम पूरा चुका है और जल्द ही इसके लिए टेंडर निकाले जाएंगें. इसके आलावा भारतमाला-2 परियोजना के तहत रक्सौल-पटना एक्सप्रेस-वे के निर्माण का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा जा चुका है. बक्सर-भागलपुर के बीच एक्सप्रेस-वे निर्माण कार्य कराए जाने के लिए प्रस्तावित है. और चौथा एक्सप्रेस-वे गोरखपुर से सिलीगुड़ी के बीच निर्माण कराए जाने की कवायद तेज हो है.

मिली जानकारी के मुताबिक देश में करीब 1800 किलोमीटर एक्सप्रेस-वे का निर्माणकार्य पूरा हो चुका है जिसमें से 930 किलोमीटर उत्तर प्रदेश में बन चुकी है. इसके आलावा यूपी में करीब 1000 किलोमीटर और महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, जम्मू-कश्मीर, हरियाणा, पंजाब आदि राज्यों में 7000 किलोमीटर से अधिक एक्सप्रेस-वे का निर्माणकार्य चल रहा है.

कोई टिप्पणी नहीं