Breaking News

मुख्‍तार अंसारी पर योगी सरकार की बड़ी कार्रवाई, पत्‍नी अफशां की करोड़ों की संपत्‍ति‍ कुर्क

मुल्क तक न्यूज़ टीम, लखनऊ. बांदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशां अंसारी के नाम से लखनऊ में खरीदी गई करोड़ों की जमीन को आजमगढ़ पुलिस ने रव‍िवार को कुर्क कर द‍िया। कुर्क की गई जमीन 194 वर्ग मीटर है और यह जमीन विधानसभा मार्ग पर एक पेट्रोल पंप के बगल में स्थित है। जमीन भी पहले पेट्रोल पंप चल रहा था। जमीन नजूल की है, जिसे अवैध रूप से खरीदा गया था। 

आजमगढ़ पुलिस ने तरवां थाने में मुख्तार के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट में दर्ज मुकदमे के तहत यह कार्रवाई की। कार्रवाई के दौरान लखनऊ जिला प्रशासन से तहसीलदार सदर, तहसीलदार एलडीए, इंस्पेक्टर हुसैनगंज अजय कुमार सिंह और आजमगढ़ स्वाट टीम प्रभारी एवं मामले के विवेचक प्रशांत कुमार श्रीवास्तव मौजूद रहे। कुर्क की गई जमीन की सर्किल रेट के अनुसार कीमत करीब डेढ़ करोड़ रुपये है। वहीं, सामान्य बाजार कीमत करीब तीन करोड़ रुपये बताई जा रही है। कुर्क की गई जमीन का प्रशासक एडीएम और कस्टोडियन इंस्पेक्टर हुसैनगंज अजय कुमार सिंह को बनाया गया है।

जिलाधिकारी लखनऊ कार्यालय से कागजी कार्रवाई पूरी करके रविवार दोपहर बाद करीब 3:55 बजे पहुंची। इसके बाद वहां पर डुगडुगी पिटवाई गई। तहसीलदार सदर ने माइक से कुर्की की कार्रवाई का एनाउंस किया। इसके बाद प्लाट पर तारों की बैरीकेडिंग कर नोटिस चस्‍पा की गई। कार्रवाई में शामिल टीम के मुताबिक गाजीपुर मुम्मदाबाद के यूसुफनगर में रहने वाला माफिया मुख्तार अंसारी इस समय बांदा जेल में बंद है। मुख्तर ने अपराधिक एवं अवैध तरीके से अर्जित की गई संपत्ति से यह जमीन पत्नी अफशां अंसारी के नाम से खरीदी थी। इसकी भूखंड संख्या एक है। मामले के विवेचक एवं आजमगढ़ स्वाट टीम प्रबारी प्रशांत कुमार श्रीवास्तव के मुताबिक आजमगढ़ के तरवां थाने में मुख्तार के खिलाफ वर्ष 2020 में गैंगेस्टर की कार्रवाई हुई थी।

2007 में मुख्तार ने पत्नी के नाम से खरीदी थी जमीन : अधिकारियों के मुताबिक मुख्तार अंसारी ने 22 अगस्त 2007 को पत्नी के नाम से यह जमीन अवैध तरीके से खरीदी थी। जमीन नजूल की थी। सुनील चक ने नजूल की इस जमीन का एक हिस्सा मुख्तार अंसारी को बेचा था। कुर्की की कार्रवाई के बाद जमीन पर प्रशासन की ओर से बोर्ड भी लगा दिया गया।

कोई टिप्पणी नहीं