Breaking News

बिहार में आज से खुलेंगे स्कूल और कॉलेज, इन निर्देशों का करना होगा पालन

मुल्क तक न्यूज़ टीम, पटना. बिहार के ग्यारहवीं-बारहवीं के सभी स्कूल, सभी डिग्री कालेज, सभी सरकारी व निजी विश्वविद्यालय और तकनीकी शिक्षण संस्थान कुल छात्र संख्या की 50 फीसदी उपस्थिति के साथ आज से खुल जायेंगे। ये शैक्षणिक संस्थान 98 दिनों बाद विद्यार्थियों के अध्ययन-अध्यापन से गुलजार होंगे। आपको बताते चलें कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को देखते हुए 3 अप्रैल को हुई क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में राज्य सरकार ने 5 अप्रैल से सभी शिक्षण संस्थानों को बंद रखने का निर्णय लिया था। 

कोरोना संक्रमण की रफ्तार में कमी को देखते हुए 5 जुलाई को मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई सीएमजी की बैठक में 12 जुलाई से 10वीं से ऊपर के सभी संस्थानों को आधी क्षमता के साथ खोलने का निर्णय लिया गया है। इसको लेकर शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने 6 जुलाई को सभी जिलाधिकारी, सभी कुलपति और सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों के लिए विस्तृत गाइडलाइन जारी किया। शैक्षणिक संस्थानों का संचालन विद्यार्थियों की सुरक्षा को सर्वोपरि रखते हुए तथा कोरोना को लेकर जारी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए किया जाएगा।


विद्यार्थियों व शिक्षकों में खुशी 

कक्षाओं के आरंभ होने को लेकर विश्वविद्यालय, कालेज व स्कूल प्रबंधन के साथ ही विद्यार्थियों व शिक्षकों में काफी खुशी है। सरकार के गाइडलाइन के मुताबिक सभी संस्थानों व स्कूलों ने अपने कैम्पस, सभी भवनों, फर्नीचर, उपकरणों, भंडारकक्ष, पानी टंकी, किचेन, वाशरूम, प्रयोगशाला, लाइब्रेरी आदि की साफ-सफाई कराई है तथा इन्हें विसंक्रमित किया गया है। 


इन निर्देशों का पालन जरूरी 

कक्षाओं में विद्यार्थी के बीच कम से कम छह फीट की दूरी होगी। इसी दूरी के साथ बैठने की व्यवस्था की जाएगी। स्टाफ रूम, कार्यालय कक्ष, आगत कक्ष में भी यह दूरी रखनी होगी। संस्थान व स्कूल के सभी गेट आगमन व प्रस्थान के समय खोलकर रखने होंगे। आने-जाने के लिए अलग-अलग गेट चन्हिति किये जायेंगे। वैसे शैक्षणिक संस्थान या विद्यालय जहां नामांकन अधिक हैं, दो पालियों में संचालित किये जायेंगे। विद्यालय समारोह, त्योहार आदि के आयोजन से बचेंगे। विद्यालय एसेम्बली कक्षाओं में ही वर्ग शिक्षक की देख-रेख में सामाजिक दूरी का पालन करते हुए होंगी। अभिभावक-शिक्षक बैठक वर्चुअल करने का निर्देश दिया गया है।


ये भी पढ़े : बिहार की राजनीति में लालू करेंगे बड़ा उलटफेर?


पिछले साल 265 दिन पर खुले थे हाईस्कूल-इंटरमीडिएट 

वर्ष 2020 में कोरोना संक्रमण की पहली लहर के कारण राज्य के सभी स्कूल, कालेज, शिक्षण संस्थान 14 अप्रैल 2020 से ही बंद कर दिए गए थे। 23 सितम्बर से 33 फीसदी बच्चों के साथ माध्यमिक-उच्च माध्यमिक की मार्गदर्शन कक्षाएं कहने को तो खुलीं लेकिन बच्चे नहीं आए। हाईस्कूल-इंटर के बच्चों के लिए स्कूल 265 दिन बाद 4 जनवरी 2021 से ही खोले जा सके। 8 फरवरी 2021 से मध्य जबकि 1 मार्च 2021 से प्राथमिक स्कूल खुले थे। सभी प्रकार के स्कूल आधी उपस्थिति के साथ ही खुले थे। 3 अप्रैल 2021 तक ही स्कूलों का संचालन हो सका। 4 अप्रैल को रविवार था और 5 अप्रैल से ये बंद थे। 

कोई टिप्पणी नहीं