Breaking News

सांसदों से क्यों मीटिंग कर रहे हैं अमित शाह, बीजेपी ने दिया यह जवाब

मुल्क तक न्यूज़ टीम, नई दिल्ली. गृह मंत्री अमित शाह ने पिछले दिनों बीजेपी के कई सांसदों के साथ लगातार बैठकें की थीं। इसके बाद से ही कयास लगाए जा रहे थे कि शायद इन लोगों को मोदी सरकार के कैबिनेट विस्तार का हिस्सा बनाया जा सकता है। इस पर अब बीजेपी की ओर से बताया गया है कि यह सरकार के कामकाज के फीडबैक के लिए था। पार्टी सूत्रों के मुताबिक अमित शाह ने सांसदों से मीटिंग कर सरकार के कामकाज का फीड बैक लिया। इसके अलावा कोरोना संकट से पैदा हालात और अन्य मुद्दों पर चर्चा की। बीते एक सप्ताह में पीएम नरेंद्र मोदी ने भी अपने कई मंत्रियों से मुलाकात की है। इसके अलावा बीजेपी चीफ जेपी नड्डा के घर पर भी बैठकों का दौर चला है। 

अमित शाह ने शनिवार और रविवार को यूपी, महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात और कुछ अन्य राज्यों से आने वाले पार्टी के सांसदों से मुलाकात की थी। वीकेंड के दौरान करीब 30 सांसद और कुछ मंत्री उनके घर पहुंचे थे। इसके चलते मोदी सरकार के कैबिनेट विस्तार को लेकर अटकलें तेज हो गई हैं। हालांकि पार्टी का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर के नरम पड़ने के बाद राजनीतिक गतिविधियां तेज हुई हैं और मुलाकातों का सिलसिला शुरू हो गया है। सूत्रों का कहना है कि इन बैठकों में अमित शाह ने सांसदों से उनके क्षेत्र के हालात को लेकर बातचीत की और कोरोना से निपटने के लिए उनकी ओर से किए जा रहे प्रयासों के बारे में जाना। 


केंद्र की मोदी कैबिनेट में 28 मंत्रियों के पद खाली हैं। ऐसे में अकसर इस बात के कयास लगते रहे हैं कि कभी भी कैबिनेट का विस्तार हो सकता है। हालांकि अब तक इस पर पार्टी या सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर कुछ भी कहा नहीं गया है। हाल ही में एलजेपी नेता रामविलास पासवान की मौत के बाद भी एक सीट खाली हुई है। वह खाद्य आपूर्ति मंत्रालय का जिम्मा संभाल रहे थे। फिलहाल पीएम मोदी के अलावा सरकार में 21 कैबिनेट मंत्री हैं। इसके अलावा 9 राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार हैं और 23 नेताओं को राज्य मंत्री के तौर पर जिम्मा दिया गया है।


कोई टिप्पणी नहीं