Breaking News

बिहार में रोहिणी आचार्य ने किसे कहा राक्षस? मां को अनपढ़ कहे जाने पर उखड़ी लालू की बेटी

मुल्क तक न्यूज़ टीम, पटना. बिहार में बुद्धिजीवी राक्षस कौन है? बिहार में अनपढ़ मुख्यमंत्री बनाम बुद्धिजीवी राक्षस क्या नए सियासी संग्राम का संकेत है? ये इशारा आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी आचार्य ने खुद दिया है।

बिहार में बुद्धिजीवी राक्षस- रोहिणी आचार्य

लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्य इन दिनों अपने परिवार के लिए ट्विटर पर मोर्चा ले रही हैं। एक के बाद एक वो लगातार बिहार में अपने पिता लालू और मां राबड़ी के विरोधियों पर हमला बोल रही हैं। इसी कड़ी में एक नया शब्द उन्होंने हमले के लिए इस्तेमाल किया है। रोहिणी आचार्या ने अपनी मां को अनपढ़ कहे जाने से बुरी तरह बिफरी हुई हैं। उन्होंने अपनी मां और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के साथ अपनी फोटो भी ट्वीट की है। रोहिणी ने उन लोगों पर सवाल उठाया है, जो राबड़ी देवी के राज को अनपढ़ महिला कहकर सवाल खड़े करते हैं।


दरअसल ये पूरा मामला आने वाली वेब सीरीज महारानी से जुड़ा है, जिसमें एक ऐसे पात्र को दिखाया गया है जो अनपढ़ होने के बाद भी सीएम की कुर्सी पर बैठती है। माना जा रहा है कि इसकी कहानी राबड़ी देवी को ही आधार में रखकर गढ़ी गई है।


रोहिणी ने याद दिलाया मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड

रोहिणी आचार्य ने अपनी मां को अनपढ़ कहे जाने पर नीतीश सरकार को बालिका गृह कांड की याद दिलाई है। रोहिणी ने अपनी मां राबड़ी के साथ अपनी एक फोटो ट्वीट की है और लिखा है कि 'बालिकागृह कांड भी एक धारावाहिक का हिस्सा नहीं था। बिहार के इतिहास में दर्ज हुआ एक ऐसा काला धब्बा है जो पढ़े-लिखे बुद्धिजीवी के ही द्वारा रचा गया राक्षसी कारनामा है! नोट.. श्रीमती राबड़ी देवी जी के राज को अनपढ़ महिला कहकर उपहास उड़ाने वाले उन बुद्धिजीवी राक्षसों का जवाब है।'


क्या बुद्धिजीवियों का यही काम है?- रोहिणी

रोहिणी ने इसके बाद भी कई ट्वीट किए हैं। मुख्यमंत्री की ओर से कोरोना में अनाथ हुए बच्चों को हर माह 1500 रुपए दिए जाने की घोषणा पर रोहिणी ने लिखा'यही फुर्ती पहले दिखला जाते... ऑक्सिजन वेंटिलेटर और हॉस्पिटल को समय रहते चुस्त-दुरूस्त जो किया हुआ होता तो हजारों जानें तड़प-तड़प कर यूं न गई होतीं। हर बार की भांति अपनी नाकामी को छुपाने की यही तेरी चाल है, क्या बुद्धिजीवियों का यही काम है?'


रोहिणी पर JDU ने खोला मोर्चा

पूर्व मंत्री और JDU नेता नीरज कुमार ने कहा कि बालिका कांड में तो सजा हो रही है। वह सामाजिक कुकृत्य था। सरकार को जैसा पता चला कार्रवाई की गई। वे अब जेल की सलाखों के अंदर पाप की सजा काट रहे हैं। लेकिन लालू-राबड़ी राज भी लोगों को याद है जब 5,263 महिलाओं के साथ कुकृत्य हुआ था। उस पर क्या कार्रवाई हुई बताएं? रोहिणी पर नीरज कुमार ने इशारों में तीखा हमला बोलते हुए कहा कि 'वे आर्थिक रुप से संपन्न पर भाषाई रुप से दरिद्र लोग हैं।'

कोई टिप्पणी नहीं