Breaking News

शशि थरूर ने फिर किया सिर चकराने वाले शब्द का इस्तेमाल, कठिन अंग्रेजी को लेकर ट्विटर पर छिड़ी बहस

मुल्क तक न्यूज़ टीम, नई दिल्ली. कांग्रेस नेता शशि थरूर राजनीति में जितना चर्चित हैं, उतना ही वह अंग्रेजी भाषा में कठिन शब्दों के इस्तेमाल के लिए भी जाने जाते हैं। उनके इन कठिन शब्दों को लेकर इंटरनेट मीडिया पर भी बहस छिड़ जाती है। इस बार भी उन्होंने ऐसे शब्द का इस्तेमाल किया है कि अधिकांश लोग चकरा ही जाएंगे। शशि थरूर ने एक संवाद में ' फ्लॉक्सिनोसिनीहिलिपिलिफिकेशन' शब्द का इस्तेमाल किया ।

दरअसल कांग्रेसी नेता शशि थरूर का ट्विटर पर टीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष के टी रामाराव से दोस्ताना संवाद चल रहा था। जिसमें रामाराव ने कहा कि कोविड-19 को लेकर ऐसी दवाएं आ रही हैं, जिनका नाम लेना भी मुश्किल है। उन्होंने मजाक करते हुए कहा कि शायद इसमें शशि थरूर का हाथ है। इसके जवाब में थरूर ने 'फ्लॉक्सिनोसिनीहिलिपिलिफिकेशन' शब्द का इस्तेमाल किया।


संवाद के ट्विटर पर आते ही लोगों ने इस शब्द का अर्थ डिक्शनरी में देखना शुरू कर दिया। ऑक्सफोर्ड शब्दकोश के अनुसार इस शब्द का अर्थ है, किसी चीज को बेकार मानने की आदत।


रोचक तथ्य ये है कि अंग्रेजी की वर्णमाला में 26 अक्षर होते हैं। थरूर द्वारा इस्तेमाल किए गए इस शब्द में 29 अक्षर हैं। कैंब्रिज डिक्शनरी के हिसाब से यह सबसे लंबा गैर-तकनीकी शब्द है। 18 वीं शताब्दी में यह शब्द खोजा गया था। शब्द लैटिन के चार उप- सर्ग को जोड़कर बनाया गया, जिसका मतलब है कुछ नहीं (नथिंग)।

कोई टिप्पणी नहीं