Breaking News

पश्चिम बंगाल से आने वाले सभी यात्रियों का कोरोना टेस्ट जरूर करें - सीएम नीतीश

मुल्क तक न्यूज़ टीम, पटना. बिहार में कोरोना वायरस का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार को इस महामारी के 3306 नए पॉजिटिव केस सामने आए। इस दौरान 104 मरीजों की मौत हुई। राज्य में अब तक कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या मंगलवार को बढ़कर 4746 हो गई। हालांकि, महामारी पर लगाम को लेकर बिहार सरकार लगातार जरूरी कदम उठा रही है। इस बीच बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि पश्चिम बंगाल से आने वाले यात्रियों का कोरोना टेस्ट जरूर करें।

'बंगाल में पॉजिटिविटी रेट ज्यादा'

मुख्यमंत्री ने कहा कि पश्चिम बंगाल में कोरोना की पॉजिटिविटी रेट ज्यादा है। वहां से आने वाले सभी यात्री चाहे वह बस से आएं या ट्रेन से सभी की जांच जरूर कराएं। सीएम नीतीश कुमार ने जिले के स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिया है कि ग्रामीण इलाकों में कोरोना टेस्ट को ज्यादा से ज्यादा बढ़ाएं। गांव में इस महामारी के संक्रमण पर लगाम के लिए हर जरूरी कदम उठाएं, साथ ही घर-घर जाकर सर्वे भी कराएं।


सीएम ने ग्रामीण इलाकों में खास ध्यान के लिए कहा

मुख्यमंत्री ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना संक्रमण की स्थिति को लेकर स्वास्थ्य विभाग और सभी जिलाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में कई निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की दर में गिरावट आ रही है, लेकिन इसका टेस्ट और बढ़ाएं और इसमें तेजी लाएं। ग्रामीण इलाकों में खास ध्यान देने के लिए कहा है।


बिहार में मरीजों का रिकवरी रेट 95.27 फीसदी

वहीं मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार, राज्य में अभी तक कुल 6,95,726 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। जिनमें से 6,55,850 मरीज ठीक होकर घरों को लौट चुके हैं। वहीं 35,129 मरीजों का इलाज अलग-अलग अस्पतालों में चल रहा है। बिहार में मरीजों का रिकवरी रेट 95.27 फीसदी है। मंगलवार को कुल 1,44,105 नमूनों की जांच की गई। राज्य में अभी तक कुल 2,92,80,386 नमूनों की जांच हुई है। बिहार में मंगलवार को 18 से 44 वर्ष और 45 वर्ष से ऊपर सहित 1,02,544 लोगों ने कोविड-19 का टीका लगवाया जा चुका है।

कोई टिप्पणी नहीं