Breaking News

यूपी गेट पर किसानों की इस चाल से फिर से परेशान होंगे दिल्ली-एनसीआर के लाखों लोग

मुल्क तक न्यूज़ टीम, नई दिल्ली/गाजियाबाद. तीनों कृषि कानूनों के विरोध में 28 नवंबर से धरना दे रहे प्रदर्शनकारियों ने यूपी गेट पर पक्के निर्माण की शुरुआत कर दी है। राष्ट्रीय राजमार्ग-नौ की दिल्ली जाने लेन और संपर्क मार्ग के फुटपाथ पर ईंट सीमेंट से निर्माण शुरू कर दिया है। पुलिस का कहना है कि बारिश का पानी रोकने के लिए ईंटें लगाई है। दूसरी तरफ प्रदर्शनकारियों ने बुधवार को आंदोलन के छह माह पूरे होने पर काला दिवस मनाने का एलान किया है। इसको लेकर पुलिस सतर्क है।

दिल्ली जाने वाली लेन पर जमा रखा है कब्जा

यूपी गेट पर प्रदर्शनकारियों का राष्ट्रीय राजमार्ग-नौ, दिल्ली-मेरठ की दिल्ली जाने वाली लेन और संपर्क मार्ग पर कब्जा है। एक्सप्रेस-वे पर उन्होंने मंच बना रखा है। लंगर चल रहा है। संपर्क मार्ग पर भी लंगर चल रहे हैं। मंगलवार को प्रदर्शनकारियों ने यहां संपर्क मार्ग के फुटपाथ पर पक्का निर्माण शुरू कर दिया। यहां फुटपाथ की दीवार तोड़कर ईंट व सीमेंट की चिनाई की और दो कमरों का स्वरूप दिया। लोहे के फ्रेम लगाए। देर शाम तक यहां काम चलता रहा। राष्ट्रीय राजमार्ग-नौ पर टेंट के बगल में ईंट से चिनाई की। संयुक्त किसान मोर्चा गाजीपुर सीमा (यूपी गेट) के प्रवक्ता जगतार सिंह बाजवा ने बताया कि पक्का निर्माण नहीं किया जा रहा है। पानी रोकने के लिए ईंटें लगाई गई हैं।

लगाएंगे काला झंडा

जगतार सिंह बाजवा ने बताया कि बुधवार को यहां काला दिवस मनाया जाएगा। धरना स्थल पर काले झंडे लगाए जाएंगे। गांवों में किसान घरों व वाहनों पर काले झंडे लगाकर अपना समर्थन देंगे। बुद्ध पूर्णिमा भी मनाई जाएगी। दोपहर में तीनों कृषि कानूनों का पुतला फूंका जाएगा।


अतिरिक्त पुलिस बल रहेगी तैनात

पुलिस अधीक्षक नगर द्वितीय ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि प्रदर्शनकारियों के प्रस्तावित कार्यक्रम को लेकर पुलिस सतर्क है। यहां पर कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था है। बुधवार को अतिरिक्त पुलिस बल तैनात रहेगा।निर्माण कार्य की जानकारी नहीं है, यदि ऐसा हो रहा है, तो बातचीत कर उसे हटवाया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं