Breaking News

पकड़ा गया भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी, इंटरपोल ने जारी किया था यलो नोटिस

मुल्क तक न्यूज़ टीम, नई दिल्ली. भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को डोमिनिका में पकड़ लिया गया है। वह हाल ही में एंटीगुआ और बरबुडा से लापता हो गया था और उसके खिलाफ इंटरपोल का यलो नोटिस जारी किया गया था। एंटीगुआ और बरबुडा के अनुरोध पर जारी यलो नोटिस के बाद डोमिनिका की पुलिस ने चोकसी को मंगलवार रात पकड़ लिया। चोकसी एंटीगुआ और बरबुडा की नागरिकता लेने के बाद 2018 से वहां रह रहा था। 

2018 में हो गया था फरार 

बता दें कि इंटरपोल द्वारा यलो नोटिस लापता लोगों का पता लगाने के लिए जारी किया जाता है। चोकसी को अब एंटीगुआ और बरबुडा की रायल पुलिस फोर्स को सौंपने का प्रयास किया जा रहा है। मेहुल चोकसी भारत में 13,500 करोड़ रुपये के पंजाब नेशनल बैंक लोन धोखाधड़ी मामले में वांछित है। भारत में अपने खिलाफ चल रहे मामले को देखते हुए वह जनवरी, 2018 में फरार हो गया था। 


परिवार ने ली राहत की सांस 

मेहुल चोकसी के वकील विजय अग्रवाल ने एएनआई को बताया कि मैंने उनके परिवार से बात की है। वे खुश और राहत महसूस कर रहे हैं कि अब मेहुल चोकसी का पता चल गया है। उनसे बात करने का प्रयास किया जा रहा है ताकि कोई स्पष्ट तस्वीर सामने आ सके कि वह डोमिनिका कैसे पहुंचे... 


रविवार से था लापता

उसके पास कैरेबियाई देेश की नागरिकता भी थी। एंटीगुआ पुलिस केे मुताबिक उसको आखिरी बार रविवार को उसकी कार में देखा गया था। पुलिस ने तलाशी अभियान चलाकर उसकी कार बरामद कर ली लेकिन चोकसी का कोई पता नहीं चल सका था। चोकसी के वकील विजय अग्रवाल ने भी मंगलवार को तस्‍दीक की थी कि हीरा कारोबारी रविवार से लापता है।


सीबीआइ भी कर रही थी सत्यापन

चोकसी के खिलाफ आरोपों की जांच कर रही सीबीआइ भी औपचारिक और अनौपचारिक चैनलों के जरिये मामले का सत्यापन करने में जुट गई थी। सीबीआइ ने इंटरपोल से भी इस सिलसिले में संपर्क साधा था। इंटरपोल सीबीआइ के अनुरोध पर चोकसी के खिलाफ रेड कार्नर नोटिस जारी कर चुका है।


नीरव के प्रत्यर्पण की भी तैैयारी  

एंटीगुआ पुलिस के मुताबिक, लापता होने से पहले चोकसी को आखिरी बार रविवार को उसकी कार में देखा गया था। पुलिस ने तलाशी अभियान चलाकर उसकी कार बरामद कर ली थी, लेकिन चोकसी का कोई पता नहीं चल सका था। बताते चलें कि चोकसी के साथ उसका भांजा नीरव मोदी भी पीएनबी घोटाले में वांछित है। नीरव इस समय लंदन की जेल में है और भारत सरकार उसके प्रत्यर्पण का प्रयास कर रही है।


सत्यापन करने में जुटी सीबीआइ

चोकसी के खिलाफ आरोपों की जांच कर रही सीबीआइ औपचारिक और अनौपचारिक चैनलों के जरिये मामले का सत्यापन करने में जुटी है। सूत्रों ने कहा कि सीबीआइ आगे की कार्रवाई के लिए खबर का सत्यापन करने का प्रयास कर रही है। सीबीआइ ने इंटरपोल से भी इस सिलसिले में संपर्क साधा है। इंटरपोल सीबीआइ के अनुरोध पर चोकसी के खिलाफ रेड कार्नर नोटिस जारी कर चुका है।


लोगों से सूचना मांग रही थी पुलिस

एंटीगुआ की पुलिस ने लापता कारोबारी की खोज के लिए तलाशी अभियान शुरू किया था। वह लोगों को चोकसी की तस्वीर दिखाकर उसके बारे में सूचना जुटा रही थी। जानसन प्वाइंट पुलिस स्टेशन में चोकसी के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज की गई थी। स्थानीय मीडिया रिपोर्टों में पुलिस कमिश्नर एटली राडनी के हवाले से कहा गया है कि पुलिस चोकसी के ठिकानों का पता लगा रही है।


एंटीगुआ के प्रधानमंत्री ने कही थी यह बात 

एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने कहा था कि उन्हें इस बात की कोई विश्वस्त सूचना नहीं है कि चोकसी देश छोड़कर भाग गया है। उन्होंने कहा, ज्यादा संभावना इसी बात की है कि वह अब भी एंटीगुआ में ही है। संसद को दिए बयान में उन्होंने कहा कि हमारे अधिकारी भारत सरकार, पड़ोसी देशों और अंतरराष्ट्रीय पुलिस संगठन के साथ चोकसी का पता लगाने में सहयोग कर रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं