Breaking News

मुंबई में 5 लोगों को दी गई 60 हजार रुपए वाली कॉकटेल दवा, जानें इसका ट्रंप कनेक्शन?

मुल्क तक न्यूज़ टीम, मुंबई. अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को कोरोना में दी गई एंटीबॉडी कॉकटेल दवा ने भारत में दस्तक दे दी है। गुरुग्राम में सबसे पहले हरियाणा के 84 साल के एक बुजुर्ग व्यक्ति को यह दवा दी गई, उसके बाद अब मुंबई में भी पांच लोगों को यह दवा दे दी गई है। यह वही दवा है जो पिछले साल कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को दी गई थी। उस समय यह दवा काफी चर्चा में भी रही थी। इसे रोश इंडिया और सिप्ला लिमिडेट ने मिलकर बनाया है। 

टीओआई की खबर के मुताबिक, मुंबई के बांद्रा स्थित लीलावती अस्पताल के करीब 40 साल के दो मरीजों को जहां मनोक्लोनल एंटीबॉडी दवा दी गई, तो वहीं सानपड़ा में एमपीसीटी अस्पताल के दो मरीजों को यह दवा दी गई। इनमें से एक मरीज की उम्र 40 साल तो दूसरी की 74 साल है, जिसका किडनी फेल हो चुका है। इसके अलावा, चेम्बुर के सुरना अस्पताल में एक अन्य डायबिटिज, हायपरटेंशन की मरीज 79 वर्षीय महिला को यह दवा दी गई। बता दें कि इस दवा के प्रत्येक खुराक की कीमत करीब 6 हजार है।


बता दें कि रोश इंडिया और सिप्ला लिमिडेट की ओर से आधिकारिक घोषणा के बाद इस दवा का पहला बैच सोमवार को भारत पहुंचा। इस दवा की खासियत यह है कि अगर इसे कोरोना के शुरुआती लक्षण वाले मरीजों में इंजेक्ट किया जाता है तो यह रोगी की कोशिकाओं में प्रवेश कर कोरोना वायरस के बढ़ने से रोकता है। यह वायरस के विकास को भी रोक देता है।


मेदांता के निदेशक डॉ नरेश त्रेहान ने कहा कि यह दवा जब मरीज को दी जाती है तो उसके बाद यह शरीर में कोरोना वायरस के विकास को रोक देता है। कोरोना मरीजों में यह दवा एक तरह से यह ब्लॉकिंग मैकेनिजम की तरह काम करती है। डॉक्टर त्रेहान ने कहा कि दवा के बाद शरीर में बनी एंडीबॉडी कोरोना वायरस के नए स्वरूप बी.1.617.2 के खिलाफ भी प्रभावी हैं और प्रयोगशालाओं में भी इसकी पुष्टि की गई है।


कैसिरिविमैब और इमदेविमाब को मिलाकर यह ऐंटीबॉडी कॉकटेल बनाया गया है। इसकी कीमत 59 हजार 750 रुपये प्रति खुराक होगी। एक बयान में कंपनी ने कहा, 'हर 1200 एमजी की दवा में 600 एमजी कैसिरिविमैब होगी और 600 एमजी इमदेविमाब। हर खुराक की कीमत 59 हजार 750 रुपये होगी। दवा के मल्टी डोज पैक की अधिकतम कीमत 1 लाख 19 हजार 500 रुपये होगी। हर पैक में दो मरीजों के लिए दवा होगी।'

कोई टिप्पणी नहीं