Breaking News

टूलकिट विवाद में कांग्रेस ने ट्विटर को लिखी चिट्ठी, 11 केंद्रीय मंत्रियों के ट्वीट को 'मैन्युप्युलेटिव' टैग दिए जाने की मांग

मुल्क तक न्यूज़ टीम, नई दिल्ली. टूलकिट विवाद को लेकर दिल्ली और गुड़गांव में ट्विटर के दफ्तरों में दिल्ली पुलिस के पहुंचने के बाद अब कांग्रेस पार्टी ने ट्विटर को चिट्ठी लिखकर 11 केंद्रीय मंत्रियों के ट्वीट को 'मैन्युप्युलेटिव' मीडिया का टैग देने की मांग की है। खबर के मुताबिक, ट्विटर ने भी उन ट्वीट्स के यूआरएल मांगे हैं। 

कांग्रेस ने मांग की कि केद्रीय मंत्रियों के ट्वीट को भी बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा की तरह 'मैन्युप्युलेटिव मीडिया' का टैग दिया जाए। कांग्रेस का कहना है कि ये ट्वीट झूठे और दुर्भावनापूर्ण प्रॉपगैंडा फैला रहे हैं। 


कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह चिट्ठी लिखी है। इस चिट्ठी में जिन बीजेपी मंत्रियों के ट्वीट के लिंक दिए गए हैं, उनमें रेल मंत्री पीयूष गोयल, स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन, शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, आईटी मंत्री रवि शंकर प्रसाद और टेक्सटाइल मंत्री स्मृति ईरानी शामिल हैं।


बीते हफ्ते बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, प्रवक्ता संबित पात्रा और बीएल संतोष पर कथित 'फर्जी' टूलकिट को लेकर शिकायत के बाद कांग्रेस ने औपचारिक तौर पर ट्विटर को चिट्ठी लिखकर इनके ट्वीट्स हटाने और अकाउंट को हमेशा के लिए बंद करने की मांग की थी।


बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने दावा किया था कि कांग्रेस ने ऐसी टूलकिट बनाई है जिसके जरिए मोदी सरकार को बदनाम करने का काम हो रहा है। ट्वीट कर संबित पात्रा ने राहुल गांधी पर भी निशाना साधा था। बता दें कि कांग्रेस ने इसे फर्जी बताते हुए पलटवार किया और संबित पात्रा-रमन सिंह के खिलाफ फर्जी दस्तावेज शेयर करने का आरोप लगाया। झारखंड कांग्रेस की तरफ से बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, स्मृति ईरानी और बीएल संतोष पर भी एफआईआर दर्ज करवाई गई थी। 


इसके बाद ट्विटर ने भी संबित पात्रा के ट्वीट में साझा किए गए टूलकिट दस्तावेज को 'मैन्युप्युलेटिव' मीडिया करार दिया था।

कोई टिप्पणी नहीं