Breaking News

परमबीर के 'लेटर बम' से जाएगी देशमुख की कुर्सी? NCP नेताओं की बड़ी बैठक

मुल्क तक न्यूज़ टीम. मुंबई. एंटीलिया-सचिन वाझे केस ने महाराष्ट्र में सियासी घमासान पैदा कर दिया है। पूर्व पुलिस कमिशनर परमबीर सिंह की ओर से गृह मंत्री अनिल देशमुख पर लगाए गंभीर आरोपों के बाद महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार पर लगातार दबाव बढ़ता जा रहा है। दबाव के बीच एनसीपी चीफ शरद पवार ने राज्य केे उप मुख्यमंत्री और एनसीपी नेता अजित पवार और जयंत पाटिल को बैठक के लिए दिल्ली बुलाया है। खबरों के मुताबिक,  इस बैठक में शिवसेना नेता संजय राउत भी मौजूद रहेंगे। माना जा रहा है कि इस बैठक में अनिल देशमुख को लेकर फैसला लिया जा सकता है। 

संजय राउत ने कहा है कि इस मामले को लेकर वह दिल्ली में शरद पवार से मुलाकात करेंगे क्योंकि वही अब सही फैसला लेंगे। राउत ने अनिल देशमुख पर लगे आरोपों को बेहद गंभीर बताया है और साथ ही यह भी कहा है कि यह आत्म अवलोकन करने का समय है। बता दें कि विपक्ष लगातार अनिल देशमुख के इस्तीफे की मांग पर अड़ा हुआ है। 


मीटिंग से पहले संजय राउत ने दिए संकेत?

महाराष्ट्र के इस विवाद के बीच शिवसेना के राज्‍यसभा सांसद संजय राउत ने एक शेर ट्वीट किया, जिसमें राजनीतिक संदेश तलाशे जा सकते हैं। संजय राउत ने अपने ट्वीट में जावेद अख्तर के एक शेर को शेयर किया है, जिसमें लिखा है- 'हमको तो बस तलाश नए रास्‍तों की है, हम हैं मुसाफिर ऐसे जो मंजिल से आए हैं।' हालांकि, इस ट्वीट के राजनीतिक उद्देश्य हैं या नहीं, ये तो संजय राउत ही जान सकते हैं। भले ही शिवसेना नेता ने अपने ट्वीट में साफ तौर पर कुछ नहीं लिखा, मगर ऐसे मौके पर जब महाराष्ट्र विकास अघाड़ी संकट के दौर से गुजर रही है और गठबंधन की मजबूती पर सवाल उठ रहे हैं, ऐसे में यह किसी भविष्य के इशारे से कम भी नहीं है। 


गौरतलब है कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर सनसनीखेज आरोप लगाया है। उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री उद्धल ठाकरे को पत्र लिखकर कहा है कि गृह मंत्री अनिल देशमुख ने सचिन वाझे को हर महीने 100 करोड़ रुपए की उगाही करने के लिए कहा था। सीएम ठाकरे को लिखी चिट्ठी में परमबीर सिंह ने आरोप लगाए हैं कि अनिल देशमुख ने सचिन वाझे से प्रत्येक महीने बार, रेस्तरां और अन्य प्रतिष्ठानों से 100 करोड़ रुपए की उगाही करने के लिए कहा था। 


हालांकि, परमबीर सिंह के आरोप पर अनिल देशमुख ने कहा, 'एंटीलिया केस और मनसुख हिरेन केस में सचिन वेज़ के सीधे लिंक सामने आ रहे हैं। परमबीर सिंह को डर है कि इसके कनेक्शन उसके पास पहुंच जाएंगे। उन्होंने कानूनी कार्रवाई से खुद को बचाने और बचाने के लिए ये झूठे आरोप लगाए हैं।'' बता दें कि एंटीलिया केस और मनसुख हिरेन की मौत में सचिन वाझे की संदिग्ध भूमिका सामने आने के बाद महाराष्ट्र की सियासत में उबाल देखने को मिल रहा है।


कोई टिप्पणी नहीं