Breaking News

न्यूज ऐंकर से अब सलाखों के पीछे अर्नब गोस्वामी, जानिए क्या है पूरा मामला

मुंबई. रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्णब गोस्वामी को रायगढ़ पुलिस और मुंबई पुलिस ने संयुक्त अभियान चलाकर गिरफ्तार कर लिया। रायगढ़ पुलिस के असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर सचिन वाजे के नेतृत्व में रायगढ़ पुलिस, मुंबई पुलिस और स्पेशल ऑपरेशन स्क्वायड ने बेहद गुप्त अभियान के तहत अर्णब के घर पर बुधवार सुबह 6 बजे ही धावा बोल दिया। हालांकि, पुलिस का कहना है कि अर्णब ने वर्ली स्थित अपने घर का दरवाजा खोलने में एक घंटे का वक्त लगा दिया। बहरहाल, कभी न्यूज चैनल के स्टार रहे अर्णब गोस्वामी अब सलाखों के पीछे हैं। उनके साथ फिरोज शेख और नितेश सारदा को भी क्रमशः कांदिवली और जोगेश्वरी से गिरफ्तार किया गया है।

क्या है मामला?

अर्णब की गिरफ्तारी से जुड़ा मामला साल 2018 का है। पुलिस के मुताबिक, रिपब्लिक टीवी का स्टूडियो तैयार करने वाली कंपनी कॉन्कॉर्ड डिजाइन प्राइवेट लिमिटेड के एमडी अन्वय नाइक और उनकी मां ने 2018 में आत्महत्या कर ली थी। अन्वय ने आत्महत्या से पहले एक पत्र लिखा। इस सुइसाइड नोट में उन्होंने कहा कि रिपब्लिक टीवी के 83 लाख रुपये समेत दो अन्य कंपनियों- आईकास्टएक्स/स्काइमीडिया और स्मार्टवर्क्स के पास कुल 5.40 लाख करोड़ रुपया बकाया होने के कारण उनकी आर्थिक स्थिति दयनीय हो गई है और अब उनके पास आत्महत्या के सिवा कोई चारा नहीं बचा है।


अन्वय और उनकी मां के शव अलीबाग के काविर गांव स्थित एक फार्महाउस में मिले थे। नाइक का शव फर्स्ट फ्लोर की छत से लटका मिला था जबकि उनकी मां की लाश ग्राउंड फ्लोर पर बेड पर पड़ी मिली थी। तब पुलिस को मिले सुइसाइड नोट में कहा गया था कि दोनों ने इसलिए आत्महत्या की क्योंकि तीनों कंपनियां उनका बकाया नहीं चुका रही थीं।


महाराष्ट्र पुलिस ने रिपब्लिक टीवी के अर्णब गोस्वामी को गिरफ्तार किया

अन्वय नाइक की पत्नी अक्षत ने अपनी शिकायत में कहा कि एआरजी आउटलायर के अर्णब गोस्वामी ने बॉम्बे डाइंग स्टूडियो प्रॉजेक्ट का 83 लाख रुपये बकाया नहीं चुकाया। दो अन्य लोगों- स्काइमीडिया के फिरोज शेख ने चार करोड़ रुपये जबकि स्मार्ट वर्क के मालिक नितेश सारदा ने 55 लाख रुपये नहीं चुकाए। अक्षत नाइक ने अपनी शिकायत में अर्णब के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया।



सुइसाइड नोट के आधार पर पुलिस ने गोस्वामी, शेख और सारदा के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज किया था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने पर पता चला कि अन्वय ने सुइसाइड की थी जबकि उनकी मां कुमुद की गला दबाकर हत्या की गई थी।


कोई टिप्पणी नहीं