Breaking News

Jio प्लैटफॉर्म्स में 1894.50 करोड़ रुपये का निवेश करेगी इंटेल, तीन महीने में रिलायंस में पैसा लगाने वाली 12वीं कंपनी

नई दिल्ली। अमेरिका की मल्टीनेशनल कंपनी इंटेल रिलायंस इंडस्ट्रीज के जियो प्लैटफॉर्म्स में 1894.50 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। इंटेल इस डील से जियो में 0.39 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी। बता दें इंटेल दुनिया में कम्प्यूटर चिप बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी है। करीब तीन महीने में​ रिलायंस जियोमें विदेशी कंपनियों द्वारा यह 12वां निवेश है। इसके पहले फेसबुक, सिल्वर लेक पार्टनर्स, विस्टा, जनरल अटलांटिक,केकेआर, मुबाडाला, सिल्वर लेक, ADIA, TPG, L Catterton, PIF ने ​जियो में निवेश किया है। जियो ने इन सभी प्रमुख टेक्नोलॉजी निवेशकों से 117,588.45 करोड़ रुपये जुटाए हैं।
इंटेल टेक्नोलॉजी सेक्टर की अग्रणी कंपनियों में से एक है। इंटेल कैपिटल, जिसके माध्यम से कंपनी ने जियो प्लैटफार्म में निवेश किया है वह 5G क्लाउड कंप्यूटिंग, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसे सेक्टर में काम करने वाली कंपनियों में निवेश करती है। 1991 के बाद से इंटेल कैपिटल ने दुनिया भर में 1,582 से अधिक कंपनियों में 12.9 बिलियन अमेरिकी डॉलर का निवेश किया है। Jio में इससे पहले बड़ा निवेश सऊदी अरब की PIF द्वारा किया गया था, जिसने 2.32% हिस्सेदारी के लिए 11,367 करोड़ रुपये का निवेश किया था।

जियो में अब तक किस कंपनी ने कितना किया निवेश
कंपनीडील की घोषणानिवेश करोड़ रुपये में
जियो में हिस्सेदारी (%)
फेसबुक22 अप्रैल435749.99
सिल्वर लेक4 मई5655.751.15
विस्ता पार्टनर8 मई113672.32
जनरल अटलांटिक17 मई6598.381.34
केकेआर22 मई113672.32
मुबाडाला5 जून9,093.601.85
सिल्वर लेक5 जून4,546.800.93
अबु धाबी इन्वेस्टमेंट ​अथॉरिटी7 जून5683.51.16
टीपीजी14 जून4,546.800.93
एल केटरटन13 जून1894.50.39
पीआईएफ18 जून11,3672.32
इंटेल3 जुलाई1894.50.39

130 करोड़ भारतीयों के जीवन की गुणवत्ता में होगा सुधार: मुकेश अंबानी
रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा, “ “दुनिया के  प्रौद्योगिकी लीडर्स के साथ हमारे संबंध और अधिक गहरा होने पर हम बेहद खुश हैं। भारत को दुनिया में एक अग्रणी डिजिटल सोसाइटी में बदलने के हमारे दृष्टिकोण को मूर्त रूप देने में ये हमारे सहायक हैं। इंटेल एक सच्चा इंडस्ट्री लीडर है, जो दुनिया को बदलने वाली तकनीक और नवाचारों को बनाने की दिशा में काम कर रहा है। वैश्विक स्तर पर इंटेल कैपिटल के पास अग्रणी प्रौद्योगिकी कंपनियों में एक मूल्यवान भागीदार होने का उत्कृष्ट रिकॉर्ड है। इसलिए हम अत्याधुनिक तकनीकों में भारत की क्षमताओं को आगे बढ़ाने के लिए इंटेल के साथ मिलकर काम करने के लिए उत्साहित हैं जो हमारी अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों को सशक्त बनाएगा और 130 करोड़ भारतीयों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार करेगा। "

इंटेल कैपिटल के अध्यक्ष, वेंडेल ब्रूक्स ने कहा, "भारत में कम लागत वाली डिजिटल सेवाओं को ताकत देने के लिए Jio प्लेटफ़ॉर्म्स अपनी प्रभावशाली इंजीनियरिंग क्षमताओं का उपयोग कर रहा है। यह जीवन को समृद्ध बनाने के इंटेल के उद्देश्य के समरूप है। हमारा मानना है कि डिजिटल पहुंच और डेटा, व्यापार और समाज को बेहतर बना सकते हैं। इस निवेश के माध्यम से भारत में डिजिटल परिवर्तन को हम ताकत देंगे।

जियो प्लेटफॉर्म्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड की “फ़ुली ओन्ड सब्सिडियरी” है। ये एक “नेक्स्ट जनरेशन” टेक्नॉलोजी कंपनी है जो भारत को एक डिजिटल सोसायटी बनाने के काम में मदद कर रही है। इसके लिए जियो के प्रमुख डिजिटल एप, डिजिटल ईकोसिस्टम और भारत के नंबर #1 हाइ-स्पीड कनेक्टिविटी प्लेटफ़ॉर्म को एक-साथ लाने का काम कर रही है। रिलायंस जियो इंफ़ोकॉम लिमिटेड, जिसके 38 करोड़ 80 लाख ग्राहक हैं, वो जियो प्लेटफ़ॉर्म्स लिमिटेड की “होल्ली ओन्ड सब्सिडियरी” बनी रहेगी।

जियो एक ऐसे “डिजिटल भारत” का निर्माण करना चाहता है जिसका फ़ायदा 130 करोड़ भारतीयों और व्यवसायों को मिले। एक ऐसा “डिजिटल भारत” जिससे ख़ास तौर पर देश के छोटे व्यापारियों, माइक्रो व्यवसायिओं और किसानों के हाथ मज़बूत हों। जियो ने भारत में डिजिटल क्रांति लाने और भारत को दुनिया की सबसे बड़ी डिजिटल ताकतों के बीच अहम स्थान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

कोई टिप्पणी नहीं