Breaking News

दूल्हे के पिता के खिलाफ कोरोना संक्रमण फैलाने का आरोप, एफआईआर दर्ज

पटना। डीएम कुमार रवि के निर्देश पर पालीगंज प्रखंड के डीहपाली निवासी अंबिका चौधरी पर गुरुवार की देर शाम प्राथमिकी दर्ज की गई। अंबिका चौधरी के पुत्र अनिल कुमार की शादी समारोह में 50 से अधिक लोग एकत्रित हुए थे। इस मामले में उन पर यह कार्रवाई की गई है। 
आरोप  है कि शादी समारोह में 50 से अधिक व्यक्तियों को शामिल होने तथा प्रोटोकॉल मानक के तहत मास्क का प्रयोग नहीं करने, सोशल डिस्टेंस मेंटेन नहीं करने तथा कोरोना संक्रमण फैलाने की आशंका थी। उक्त आरोप के तहत बीडीओ पालीगंज  चिरंजीवी पांडे ने पालीगंज थाने में अंबिका चौधरी पर प्राथमिकी दर्ज कराई है। अंबिका चौधरी के पुत्र स्व.अनिल कुमार का 15 जून के आयोजित शादी समारोह में भीड़भाड़ इकट्ठा कर प्रोटोकॉल मानक का उल्लंघन किया गया तथा  कोरोना संक्रमण फैलाने में भूमिका निभाई गई।

डीहपाली शादी समारोह में शामिल 14 कोरोना पॉजिटिव पूरी तरह से स्वस्थ होकर अपने-अपने घर लौट गए। अनुमंडल प्रषासन और चिकित्सा कर्मियों ने बेहतर स्वास्थ्य की शुभकामनाओं के साथ सभी को विदा किया। एक महिला रामझरी देवी(65) का इलाज एनएमसीएच में चल रहा है। वहीं अभी भी 97 संक्रमित बिहटा आइसोलेषन वार्ड में भर्ती हैं। इस बात की जानकारी स्वास्थ्य प्रबंधक प्राजीत कुमार तिवारी ने दी है। 

15 जून को डीहपाली में हुए शादी समारोह में सभी लोग किसी न किसी रूप में शामिल हुए थे। शादी के एक दिन बाद ही दूल्हे की मौत हो गई थी। कोरोना वायरस से हुए संक्रमण की आशंका को देखते हुए 19 जून को शादी समारोह में शामिल होने वाले नगर बाजार व डीहपाली गांव के 105 लोगों का सैंपल जिला से आई विशेष टीम ने लिया था। उनमें 15 लोग पॉजिटिव पाए गए थे। 22 जून को सभी संक्रमितों को मसौढ़ी अनुमंडल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भेज दिया गया था। 

इस बीच डॉक्टर्स डे यानी एक जुलाई को 14 संक्रमितों के सकुशल अपने घर वापसी पर हर्ष व्यक्त करते हुए एसडीओ सुरेंद्र कुमार ने अनुमंडल क्षेत्र में कार्यरत सभी चिकित्सकों, कर्मियों सहित अनुमंडल व प्रखंड प्रषासन की टीम को शुभकामना व बधाई देते हुए कहा कि जान की परवाह किए बिना दिन-रात पूरी ईमानदारी और निष्ठा के साथ निःस्वार्थ भाव से आमजनों की सेवा में जुटे हुए चिकित्सक और कर्मी ही असली कोरोना योद्धा हैं।  

कोई टिप्पणी नहीं