Breaking News

बेटे को छुड़ाने के लिए विनती कर रही महिला को पुलिस ने मारी लात, मौत

मथुरा. पुलिस से बेटे को छुड़ाने की विनती कर रही महिला को पुलिस कर्मी द्वारा लात मारने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। यह देख लोग आक्रोशित हो गए। आक्रोशित लोगों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए बाजना तिराहे पर शव रखकर रखकर जाम लगा दिया। पुलिस के उप निरीक्षकों एवं दो अन्य सिपाहियों के विरुद्ध मुकदमा लिखे जाने के बाद ही आक्रोश शांत हुआ और करीब साढ़े तीन घंटे बाद जाम खुल सका।
कस्बा नौहझील निवासी नरेश पुत्र स्वर्गीय वेद प्रकाश राशन कार्ड को लेकर ब्लॉक कार्यालय पर सेक्रेटरी से मिलने निकला। उसकी सेक्रेटरी से मुलाकात बाजना तिराहे पर हो गई। राशन कार्ड को लेकर नरेश और सेक्रेटरी के मध्य कहासुनी हो गई। आरोप है कि पास ही मौजूद उपनिरीक्षक मनिंदर सिंह, कस्बा इंचार्ज सुधीर मलिक एवं अन्य दो सिपाहियों ने नरेश को पीट दिया और उसे थाने ले जाने लगे। इसी बीच नरेश की मां गीता देवी मौके पर पहुंच गईं और नरेश से लिपट कर पुलिस से अपने बेटे को छोड़ने की गुहार करने लगीं। पुलिस कर्मी उसे अलग करने लगे लेकिन अपने बेटे को छुड़ाने के प्रयास में मां लगी रही। आरोप है कि इसी बीच पुलिसकर्मियों ने नरेश की मां के सीने में लात मार दी। लात लगने से वह सिर के बल गिर पड़ीं और मौके पर ही उनकी मौत हो गई।

गीता की मृत्यु का समाचार सुनते ही कस्बे में पुलिस के प्रति आक्रोश भड़क गया और सैकड़ों लोगों ने गीता के शव को बाजना तिराहे पर रखकर जाम लगाते हुए विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। सूचना मिलने पर एसडीएम मांट कृष्णानंद तिवारी, सीओ मांट रविकांत पाराशर एवं मांट सर्कल का पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गया। दोनों अधिकारियों ने पीड़ित पक्ष की बात को सुना। पुलिस प्रशासन के अधिकारी और कस्बे के सभ्रांत नागरिकों की मौजूदगी में पीड़ित पक्ष ने अपनी बात रखी कि उन्हें न्याय मिलना चाहिए और दोषी पुलिसकर्मियों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए। 

इस संबंध में पुलिस क्षेत्राधिकारी मांट रविकांत पाराशर ने बताया कि आरोपी पुलिसकर्मियों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर दिया गया है। पुलिस की पीड़ित परिवार के साथ पूरी सहानुभूति है। करीब साढ़े तीन घंटे तक विरोध प्रदर्शन चलता रहा। शाम को 6:30 बजे  शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। इस संबंध में मृतका गीता देवी के भतीजे खानचंद ने थाना नौहझील में रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पीएम रिपोर्ट आने के बाद निष्पक्ष कार्रवाई की जाएगी। पुलिस दोषियों को किसी कीमत पर नहीं छोड़ेगी।

कोई टिप्पणी नहीं