Breaking News

विराट या रोहित, किसे खेलते देखना पसंद करेंगे? कैफ ने दिया यह जवाब

नई दिल्ली. भारत के पूर्व बल्लेबाज मोहम्मद कैफ को अगर विराट कोहली और रोहित शर्मा में से किसी एक खिलाड़ी की बल्लेबाजी देखना का विकल्प दिया जाएगा तो वह रोहित को चुनेंगे। कैफ ने हालांकि भारतीय कप्तान की तारीफ की और कहा कि कोहली तीनों प्रारूपों में अलग स्तर पर पहुंच चुके हैं। उन्होंने कहा, ''अगर किसी शहर में एक साथ दो मैच खेले जा रहे हों। एक में विराट और दूसरे में रोहित खेल रहा हो तो फिर मैं वह मैच देखने के लिए जाऊंगा जिसमें रोहित शर्मा खेल रहा होगा।''
कैफ ने स्पॉटस्क्रीन यूट्यूब पेज पर कहा, “अगर आप मुझसे पूछेंगे तो मैं रोहित की बल्लेबाजी देखना पसंद करूंगा। दोनों के सामने काफी लंबे करियर पड़े हैं और दोनों शानदार बल्लेबाज हैं। विराट कोहली अलग स्तर के खिलाड़ी हैं। टेस्ट में उनके रिकॉर्ड शानदार है। वह वनडे और टी-20 में भी शानदार खेल रहे हैं। लेकिन अगर मेरे पास विकल्प है तो रोहित शर्मा को सफेद गेंद से बल्लेबाजी करते देखना पसंद करूंगा।”
मोहम्मद कैफ ने कहा, ''अगर किसी शहर में एक साथ दो मैच खेले जा रहे हों। एक में विराट और दूसरे में रोहित खेल रहा हो तो फिर मैं वह मैच देखने के लिए जाऊंगा जिसमें रोहित शर्मा खेल रहा होगा।''
उन्होंने कहा, “उनकी बल्लेबाजी में सुंदरता है। उनके पास क्रिज पर हमेशा समय रहता था। वह कभी भी जल्दी में नहीं रहते। वह बड़ी आसानी से बल्लेबाजी करते हैं। जब गेंद को टाइम करते हैं तो गेंद काफी तेजी से जाती है। कई बल्लेबाज हैं जो काफी बड़े शॉट्स लगाते हैं, लेकिन रोहित को देखते हुए आपको एहसास नहीं होगा कि उन्होंने शॉट मारने की कोशिश की है।''

कैफ ने कहा, ''निसंदेह विराट का टेस्ट और सीमित ओवरों की क्रिकेट दोनों में शानदार रिकॉर्ड है, लेकिन रोहित की बल्लेबाजी में कलात्मकता है। वह ऐसा बल्लेबाज है जो गेंदों की धुनाई करता है और गेंदबाज को इसका अहसास भी नहीं होने देता।''

'धोनी की सफलता में मेरा हाथ'
कैफ ने 2004 में चटगांव में खेले गए महेंद्र सिंह धोनी के पदार्पण मैचों को याद किया। धोनी के पदार्पण मैच में कैफ दूसरे छोर पर थे और धोनी बिना रन बनाए आउट हो गए थे। कैफ ने कहा कि धोनी की सफलता में उनका भी थोड़ा बहुत हाथ है, क्योंकि उन्हीं के कारण कप्तान सौरव गांगुली ने 2005 में विशाखापट्टनम में पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए मैच में धोनी को नंबर-3 पर भेजा। धोनी ने इस मैच में पाकिस्तान के खिलाफ तूफानी 148 रनों की पारी खेली थी और यहां से धोनी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। 

कैफ ने हंसते हुए कहा, “धोनी पहले मैच में रन आउट हो गए थे और वह अच्छा स्कोर भी नहीं कर पाए थे। नंबर-6 और 7 पर आपको ज्यादा मौके नहीं मिलते। इसलिए सौरव गांगुली ने पाकिस्तान के खिलाफ विशाखापट्टनम में उन्हें ऊपर भेजा। इसलिए उनके आगे आने में मेरा भी हाथ है।”

कोई टिप्पणी नहीं