Breaking News

वाराणसी में दवा व्यवसायी को पुलिस ने किया गिरफ्तार, औषधि विभाग की टीम ने की छापेमारी, किन्‍नरों को दी गई सहायता

वाराणसी, वाराणसी शहर की कई खबरों ने शुक्रवार को सुर्खियां बटोरीं। दवा व्यवसायी को पुलिस ने किया गिरफ्तार, औषधि विभाग की टीम ने की छापेमारी, किन्‍नरों को दी गई सहायता, नए सिरे से होगा केंद्रों का निर्धारण, थैलेसीमिया पीडि़तों को है सुविधा की दरकार आदि खबरें रहीं। जानिए शाम 7 बजे तक की शहर-ए-बनारस की पांच प्रमुख और चर्चित खबर।
सप्तसागर दवा मंडी के व्यवसायी को पुलिस ने किया गिरफ्तार, कोरोना संक्रमण से कई को किया प्रभावित
अप्रैल माह में सप्तसागर मंडी के दवा कारोबारी कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। कारोबारी इस दौरान अपने परिवार के साथ ही कई लोगों को संक्रमित कर दिया है। इसी आरोप में मंडुआडीह पुलिस ने दवा व्यवसायी मड़ौली निवासी को किया गिरफ्तार कर लिया है। शुक्रवार को दवा कारोबारी को धारा 151 में पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दवा व्यवसायी पर पूर्व में भी धारा  269,270,271 के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत किया जा चुका है। पूर्वांचल की सबसे बड़ी सप्तसागर दवा मंडी के व्यवसायी की गत दिनों कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने से कारोबारियों ने राहत की खास ली थी।

वाराणसी में औषधि विभाग की टीम ने की छापेमारी, गड़बड़ी पर लंका में छह दवा दुकानों को नोटिस
गड़बड़ी की सूचना पर औषधि विभाग की टीम ने शक्रवार को लंका कई स्थित दवा की दुकानों में औचक छापेमारी की। बीएचयू पास स्थित दवा मार्केट के सरदार कटरा में छापेमारी से पूरे दुकानदारों में हडक़ंप मच गया। खास उन दुकानदारों में जो दवा का अवैध कारोबार करते हैं।

वाराणसी में अनाज बैंक की ओर से किन्‍नरों को दी गई सहायता, सम्‍मान पोटली का ऑनलाइन शुभारंभ
कोरोना लॉक डाउन के दौरान भूख सबसे बड़ी समस्या बनकर उभरी। रोजी रोजगार बन्द, दुकाने बंद तो क्या आम और क्या खास। सरकार से लेकर सामाजिक संगठनों की बस एक ही चिन्ता कि कोई भूखा न रहे। ऐसे में किन्नर समुदाय के सदस्य भी भूख से प्रभावित हुए। परम्परागत काम बन्द होने की वजह से भोजन के लाले पड़ गये। विशाल भारत संस्थान द्वारा संचालित विश्व का पहला अनाज बैंक लॉकडाउन के पहले दिन से 24 घंटे की रसोई चलाकर हजारों पैकेट भोजन वितरित कर रहा है। अनाज बैंक ने बच्चों, बीमार, गर्भवती महिलाओं और रोजेदारों तक की फिक्र की है।

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ: नए सिरे से होगा केंद्रों का निर्धारण, परीक्षाओं को लेकर मंथन
जेईई व नीट की परीक्षा की तिथि घोषित होने के बाद विश्वविद्यालयों ने भी परीक्षाओं के मंथन तेज कर दिया है। इस क्रम में महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ भी स्नातक व स्नातकोत्तर की परीक्षाओं की रूपरेखा बनाने में जुटा हुआ है। विश्वविद्यालय ने स्नातक की वाॢषक परीक्षा के लिए नए सिरे से केंद्र निर्धारण करने का निर्णय लिया है। केंद्रों की संख्या बढ़ाई जाएगी ताकि शारीरिक दूरी के मानक के अनुसार परीक्षाॢथयों को एक मीटर की दूरी पर बैठाया जा सके। हालांकि संशोधित टाइम टेबल जारी करने के लिए विद्यापीठ को शासन की गाइड लाइन का इंतजार कर रहे हैं।

World Thalassemia Day : सहानुभूति नहीं, थैलेसीमिया पीडि़तों को है सुविधा की दरकार
World Thalassemia Day थैलेसीमिया बच्चों में अनुवांशिक तौर पर मिलने वाला रक्त संबंधी रोग है। हीमोग्लोबिन निर्माण प्रक्रिया में गड़बड़ी होने से रक्तक्षीणता के लक्षण प्रकट होते हैं। इसकी पहचान तीन माह की आयु के बाद ही होती है। देश में 35 लाख से अधिक बच्चे इससे पीडि़त हैं। ऐसे में सहानुभूति दिखाने की बजाय सरकार सुविधा बढ़ाने पर ध्यान दें।

कोई टिप्पणी नहीं