Breaking News

पालघर मामले में साधुओं का केस लड़ रहे वकील की सड़क दुर्घटना में मौत, BJP ने उठाए सवाल

नई दिल्ली. महाराष्ट्र के पालघर मामले में साधुओं की ओर से केस लड़ रहे वकील के सहयोगी वकील दिग्विजय त्रिवेदी की एक सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। वकील दिग्विजय की मौत के बाद बीजेपी नेता संबित पात्रा ने निशाना साधा है।
रिपोर्ट्स के अनुसार, यह हादसा मुंबई-अहमदाबाद हाईवे पर सुबह तकरीबन 10:30 बजे हुआ, जब वह गाड़ी खुद चला रहे थे। उनके साथ एक अन्य महिला भी बैठी हुई थीं। इसी दौरान दिग्विजय का कंट्रोल गाड़ी से हट गया, जिसके बाद उनकी कार डिवाइडर से जा टकराई। दिग्विजय की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि महिला को गंभीर अवस्था में नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पालघर पुलिस ने ट्वीट कर बताया कि दिग्विजय त्रिवेदी और को-काउंसल प्रीति त्रिवेदी एनएच-48 से जा रहे थे। शुरुआती तौर पर यह मामला दिग्विजय के गाड़ी से कंट्रोल खोने का लगता है। वहीं, प्रीति को गंभीर चोटें आई हैं।

इस दुर्घटना पर बीजेपी नेता संबित पात्रा ने निशाना साधा है। संबित पात्रा ने ट्वीट कर लिखा, 'पालघर में संतो की हत्या मामले में वीएचपी के वकील दिग्विजय त्रिवेदी की सड़क हादसे में मृत्यु हो गयी। यह खबर विचलित करने वाली है। क्या यह केवल संयोग है कि जिन लोगों ने पालघर मामले को उठाया उनपर या तो कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हमला किया या एफआईआर कराई?' 

बता दें कि पालघर मामले में अभी तक 134 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। सीआईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि इस मामले की जांच जबसे सीआईडी को सौंपी गई है तब से विभाग ने 24 लोगों को गिरफ्तार किया है। यह घटना 16 अप्रैल को गडचिंचले गांव में हुई थी। दो साधु मुंबई से एक कार से अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने सूरत जा रहे थे। उनका चालक भी उनके साथ था। गांव में एक भीड़ ने उन्हें रोका और बच्चा चोर होने के संदेह में पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। 

कोई टिप्पणी नहीं