Breaking News

RSS नेता का हत्यारा ताहिर सहित 2 हिज्बुल आतंकी ढेर, जवान शहीद

एएनआई,जम्मू। जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले के एक गांव में रविवार को मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिद्दीन के दो आतंकवादी मारे गए। आतंकवादियों से मुकाबला करते हुए सेना का एक जवान भी शहीद हो गया। मारे गए आतंकवादियों में एक की पहचान ताहिर उर्फ उकाब के रूप में हुई है। वह पुलवामा का रहने वाला था। वह पिछले साल किश्तवाड़ में आरएसएस नेता चंद्रकांत शर्मा की हत्या में शामिल था।
जम्मू के आईजीपी मुकेश सिंह ने कहा कि हिज्बुल मुजाहिद्दीन के आतंकवादी ताहिर अहमद बट का मारा जाना सुरक्षाबलों के लिए बड़ी सफलता है। अब डोडा को आतंकवाद से मुक्त कहा जा सकता है। उन्होंने कहा कि 5 घंटे तक चले मुठभेड़ के बाद बड़ी मात्रा में हथियार भी बरामद किए गए हैं।

अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद डोडा शहर से 26 किलोमीटर दूर गुंडाना इलाके के पोस्ता-पोत्रा गांव में एक संयुक्त अभियान चलाया। इसके बाद दोनों ओर से मुठभेड़ शुरू हो गई थी। छिपे हुए आतंकवादियों ने गोलियां चलानी शुरू कर दीं जिसमें सेना का एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया और अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई। 

अधिकारियों ने बताया कि सेना की राष्ट्रीय राइफल्स, पुलिस और सीआरपीएफ के संयुक्त दलों ने एक मकान में दो संदिग्ध आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद शनिवार रात को अभियान चलाया। संयुक्त दल जब ठिकाने की ओर बढ़ रहा था तब सुबह करीब साढ़े सात बजे उन पर भारी गोलीबारी की गई जिसका उन्होंने जवाब दिया। आतंकवादी संक्षिप्त मुठभेड़ के बाद एक मकान में छिप गए।

डोडा जिले में इस साल सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच यह दूसरी मुठभेड़ है। इससे पहले 15 जनवरी को हिज्बुल मुजाहिदीन कमांडर हारून अब्बास सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया था।

इस महीने की शुरुआत में जिले में हिज्बुल मुजाहिदीन के दो आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया था और उनके पास से कुछ हथियार और गोला बारूद भी बरामद किए गए थे। डोडा के साथ ही नजदीक के किश्तवाड़ जिले में हाल ही में आतंकवादी गतिविधियां बढ़ी हैं। चेनाब घाटी के इन जिलों को एक दशक पहले आतंकवाद से मुक्त घोषित किया गया था।

कोई टिप्पणी नहीं