Breaking News

कोरोना वायरस फैलाने के लिए चीन से वसूले जाएं 600 अरब डॉलर, सुप्रीम कोर्ट में दायर हुई याचिका

इस बात के पुख्ता प्रमाण हैं कि भारतीय अर्थव्यवस्था को ध्वस्त करने और भारत में हजारों लोगों की जान लेने वाला कोरोना वायरस चीन के वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से निकला है.
नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी फैलाने के आरोप को लेकर चीन से 600 अरब डॉलर का हर्जाना वसूलने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है. जिसमें मांग की गई है कि वह केंद्र सरकार को निर्देश दे कि वह चीन से हर्जाना वसूलने के लिए अंतरराष्ट्रीय न्यायालय का दरवाजा खटखटाए.

याचिका में कहा गया है कि इस बात के पुख्ता प्रमाण हैं कि भारतीय अर्थव्यवस्था को ध्वस्त करने और भारत में हजारों लोगों की जान लेने वाला कोरोना वायरस चीन के वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से निकला है.

ये याचिका तमिलनाडु के मदुरै के रहने वाले एक शख्स ने दायर की है. जिसमें कहा गया है कि कोरोना वायरस को जानबूझकर चीन ने भारत के खिलाफ जैविक हथियार के तौर पर तैयार किया है. कहा गया है कि क्योंकि कोई व्यक्ति अंतरराष्ट्रीय न्यायालय नहीं जा सकता है इसीलिए केंद्र सरकार को इस संबंध में याचिका दायर करने के लिए निर्देश दे.

कोई टिप्पणी नहीं