Breaking News

हरियाणा से दरभंगा आ रहे ऑटो को पिकअप वैन ने उड़ाया, पति-पत्नी समेत गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत

दरभंगा. कोरोना महामारी (Corona Epidemic) की इस मनहूस घड़ी में प्रवासी मजदूरों पर आफत का सैलाब आ गया है. ये मार्मिक कहानी उन्नाव टेंपू हादसे (Unnav Road Accident) का शिकार एक परिवार और पति-पत्नी की है जिनकी मौत के बाद जहां एक 70 वर्ष के पिता के बुढ़ापे का सहारा उसका बेटा चला गया तो वहीं 6 वर्ष के अबोध बालक पर से उसके माता पिता का साया उठ गया. इस घटना में अपनी मां की पेट मे पल रहा बच्चा जो चंद महीने बाद इस दुनिया में कदम रखने वाला था वो दुनिया में नही आ सका. वो भी अपने माता-पिता के साथ ही इस दुनिया में आए बिना ही चला गया. ये परिवार हरियाणा के बहादुरगढ़ से अपने गांव के लिए निकला था तो जिंदा पर ना स्वयं जिंदा पहुंचा और ना ही इनका शव ही गांव आ सका.
हरियाणा (Hariyana) के बहादुरगढ़ से अशोक चौधरी अपनी पत्नी छोटी देवी और बेटा कृष्णा चौधरी के साथ अपने ऑटो से अपने गांव मकरनपुर थाना बहेड़ा दरभंगा आ रहे थे. रास्ते में ऑटो (Auto) का पेट्रोल खत्म होने के कारण वहीं पर रुककर पेट्रोल डाल रहे थे तभी ये हादसा हुआ.
गांव आने के क्रम में हुआ हादसा
दरभंगा लौट रहे प्रवासी श्रमिक दम्पत्ति की एक दुर्घटना में मौत हो गई. हरियाणा के बहादुरगढ़ से अशोक चौधरी अपनी पत्नी छोटी देवी और बेटा कृष्णा चौधरी के साथ अपने ऑटो से अपने गांव मकरनपुर थाना बहेड़ा दरभंगा आ रहे थे. रास्ते में ऑटो का पेट्रोल खत्म होने के कारण वहीं पर रुककर पेट्रोल डाल रहे थे तभी तेज रफ्तार से आ रही पिकअप लोडर ने पीछे से टक्कर मार दी. इस हादसे में दंपति की मौत हो गई जबकि सड़क से दूर हटकर पेशाब कर रहा इनका बच्चा कृष्णा बच गया.

पिता का रो-रो कर बुरा हाल
इस दर्दनाक हादसे की खबर दरभंगा उनके गांव पहुंचते ही उनके बूढे पिता एवं घरवालों का रो-रो कर बुरा हाल है. पिता उसे आने के लिए मना कर रहे थे पर दो महीने के लॉकडाउन के दौरान उसकी आर्थिक हालात इतनी खराब हो गयी थी कि मना करने के वावजूद वो वापस अपने ऑटो से ही गांव आने के लिए निकल पड़े. हालात से मजबूर अपनी गर्भवती पत्नी एवं बेटे के साथ इस लम्बे सफर पर निकल गए जो सफर इन दोनों के लिए अन्तिम सफर बन गया. इस घटना के बाद परिजन घटनास्थल पहुंच गये हैं जहां शव का अंतिम संस्कार गंगा किनारे होगा. इस परिवार की सुध लेने कोई भी जनप्रतिनिधि या प्रशासनिक अधिकारी नहीं पहुंचा है.

कोई टिप्पणी नहीं