Breaking News

10 लाख की आबादी वाला NCR का खोड़ा गांव सील, मुंबई के धारावी जैसी चुनौती

उत्तर भारत के सबसे बड़े हॉटस्पॉट बने गाजियाबाद के खोड़ा गांव के लिए तैनात आदित्य प्रजापति ने एनडीटीवी से बातचीत में कहा कि खोड़ा काफी सघन आबादी वाला इलाका है
नई दिल्ली: दिल्ली-एनसीआर में गाजियाबाद की खोड़ा इलाके में कोरोना वायरस का खतरा वैसी ही मंडरा रहा है जैसे मुंबई में धारावी इलाका है. दिल्ली-एनसीआर में खोड़ा गांव एक ऐसा इलाका है जिसकी सीमाएं दिल्ली-गाजियाबाद और नोएडा जिलों से जुड़ी हैं. यहां पर लाखों की संख्या में प्रवासी रहती हैं और आबादी का घनत्व भी बहुत ज्यादा है. इस बात का अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं कि  इलाके में 42 हजार मकान हैं जिनमें 10 लाख लोग रहते हैं. 14 मरीज सामने आ चुके हैं जिसमें एक की मौत हो चुकी है. इस पूरे इलाके को सील किया जा चुका है.  

उत्तर भारत के सबसे बड़े हॉटस्पॉट बने गाजियाबाद के खोड़ा गांव के लिए तैनात आदित्य प्रजापति ने एनडीटीवी से बातचीत में कहा कि खोड़ा काफी सघन आबादी वाला इलाका है. यहां के कामगारों की आबादी है जो दिल्ली और नोएडा जाते हैं. मज़दूर हैं, रेहड़ी पटरी वाले,अखबार बेचने वाले और  अस्पतालों का स्टाफजैसे वार्डब्वाय, नर्स या स्वीपर हैं. 

आदित्य प्रजापति ने बताया कि पाया गया कि जिन लोगों का दिल्ली या नोएडा आना-जाना हुआ है  वही लोग कोरोना पॉजिटिव हुए या उनके संपर्क में आए लोग कोरोना पॉजिटिव  हुए हैं. अब हमारी कोशिश है कि यहां से लोगों का आना-जाना दिल्ली या नोएडा के लिए बंद कर दिया जाए. जो मामले यहां पर आए उनमें बहुत से मामले ऐसे थे जिनका दिल्ली या नोएडा के अस्पतालों से संपर्क था या ट्रीटमेंट कराने गए थे. ये सबसे बड़ा कारण है. उन्होंने बताया कि कुल 10 लाख की आबादी सील की गई है.

खोड़ा के मकनपुर नगर पालिका परिषद के  अधिशासी अधिकारी केके भड़ाना ने बताया कि  खोड़ा में करीब 42000 मकान है जो लोग ज़रूरत का सामान या राशन का सामान खरीद सकते हैं उनके लिए अंदर ही व्यवस्था की गई है और जो नहीं सकते उनको पका हुआ भोजन पैक करके सप्लाई किया जाएगा.

कोई टिप्पणी नहीं